स्मार्टफोन यूजर हो जाएं सावधान, अमेरिकी खुफिया एजेंसियां कर रही आपका डाटा चोरी

स्मार्टफोन यूजर हो जाएं सावधान, अमेरिकी खुफिया एजेंसियां कर रही आपका डाटा चोरीप्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली। अगर आप स्मार्टफोन रखते हैं, तो अमेरिकी खुफिया एजेंसी आपकी जासूसी कर रही है। पूर्व गृह सचिव राजीव महार्षि ने संसद की एक समिति को जानकारी देते हुए कहा कि देश में इस वक्त 40 फिसदी लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं। इन सभी व्यक्तियों का डाटा अमेरिकी एजेंसी सीआईए समेत सभी अमेरिकी एजेंसियों के पास पहुंच रहा है।

राजीव महार्षि ने 21 जुलाई को संसदीय समिति से कहा कि प्राइवेट कंपनियों द्वारा मोबाइल डाटा को शेयर करना काफी गलत है। इस संसदीय समिति को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम अध्यक्ष हैं। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक महार्षि ने कहा कि मोबाइल कंपनियां लोगों के फिंगरप्रिंट्स और बॉयोमेट्रिक डाटा को भी स्मार्टफोन के जरिए कैप्चर कर रही हैं।

राजीव महर्षि ने उन एप्लिकेशन पर भी चिंता जाहिर की जो लोगों की जानकारी चुराती हैं और दूसरों को दे देती हैं। राजीव ने कहा कि निजी जानकारी के जरिए लोगों की हर हरकत पर नजर रखी जा सकती है। इसपर चिदंबरम ने भी चिंता जताते हुए कहा कि अगर दो लोगों की लोकेशन एक ही इलाके में दिखाई दे रही है तो इसका मतलब लगाया जाएगा कि वे एक ही कमरे में हैं।

ऐप के माध्यम से चोरी हो रहा डाटा

महार्षि ने कहा कि ऐसा होने से मोबाइल पर उपलब्ध डाटा ऐप के माध्यम से चोरी हो सकती है। इससे लोगों के आने-जाने पर भी आसानी से निगरानी रखी जा रही है। अगर प्रत्येक भारतीय स्मार्टफोन का प्रयोग करने लगे, तो सभी की पर्सनल जानकारी आसानी से अमेरिकी खुफिया एजेंसी के पास पहुंच सकती है। इसलिए सभी स्मार्टफोन रखने वालों को ऐप के इस्तेमाल में सावधानी बरतनी होगी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top