‘नाखुश’ राजनाथ सिंह ने सीआरपीएफ प्रमुख और सुरक्षा सलाहकार को छत्तीसगढ़ में ही रुकने को कहा

‘नाखुश’ राजनाथ सिंह ने सीआरपीएफ प्रमुख और सुरक्षा सलाहकार को छत्तीसगढ़ में ही रुकने को कहाराजनाथ से भगदड़ में मौतों पर शोक जताया।

नई दिल्ली (भाषा)। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सुकमा में हुए नक्सली हमले के मद्देनजर केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के कार्यवाहक महानिदेशक और मंत्रालय के एक अन्य शीर्ष अधिकारी से छत्तीसगढ़ में ही रूकने को कहा है। साथ ही इलाके में सक्रिय नक्सली संगठनों के खिलाफ विशेष अभियान में संबद्ध एजेंसियों के बीच आपसी समन्वय की प्रभावी रुपरेखा तय करने को कहा है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

मंत्रालयी सूत्रों के मुताबिक दोनों शीर्ष अधिकारियों को सुकमा हमले में शामिल नक्सलियों की धरपकड़ के लिए चलाए जाने वाले अभियान की पुख्ता रूपरेखा तैयार करने को कहा गया है। सिंह ने सीआरपीएफ के कार्यवाहक महानिदेशक सुदीप लखटकिया और मंत्रालय में वरिष्ठ सुरक्षा सलाहकार के विजय कुमार को इस अभियान से संबद्ध एजेंसियों के बीच समन्वय कायम होने तक छत्तीसगढ़ में ही रहने के निर्देश दिए हैं। दोनों अधिकारियों की जिम्मेदारी हमले में शामिल नक्सलियों की पहचान से जुड़ी खुफिया सूचनाओं के आधार पर लक्षित नक्सलियों को ही निशाना बनाने की दी गई है।

ये भी पढ़ें: #Sukma हमला : सोशल मीडिया पर लोगों ने की राजनाथ सिंह की ‘निंदा’, कहा- अब एक्शन चाहिए

सूत्रों ने बताया कि राजनाथ ने सीआरपीएफ के आला अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने हथियारों, साजोसामान और खुफिया सूचनाएं इकट्ठा करने से जुड़ी समस्याएं तत्काल सुलझाएं ताकि नक्सल विरोधी अभियानों में बेहतर परिणाम आ सके। उल्लेख्खनीय है कि सोमवार को हुए हमले में 25 जवान मारे गए थे। कुमार सीआरपीएफ के प्रमुख रह चुके हैं और उन्हें तमिलनाडु में 2004 में चंदन तस्कर वीरप्पन को मार गिराने का श्रेय जाता है। गृह मंत्री ने रायपुर में कहा कि सरकार नक्सलियों से लड़ाई को लेकर अपनी रणनीति की समीक्षा करेगी। बीते 11 मार्च को भी छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में ही अर्धसैनिक बल के 12 जवान नक्सलियों के हमले में मारे गए थे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top