राज्यसभा की कार्यवाही बुधवार तक स्थगित

राज्यसभा की कार्यवाही बुधवार तक स्थगित

साभार: इंटरनेट।

नई दिल्ली (आईएएनएस)। संसद के ऊपरी सदन राज्यसभा की कार्यवाही बुधवार तक स्थगित कर दी गई। कांग्रेस की अगुवाई में विपक्षी पार्टियों ने राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूर्ववर्ती मनमोहन सिंह पर लगाए आरोप से उत्पन्न विवाद का 'हल' निकाले जाने तक राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित करने की मांग की थी। सभापति ने पहले विपक्ष की मांग को खारिज करते हुए राज्यसभा की कार्यवाही 2 बजे तक स्थगित कर दी और बाद में कांग्रेस सदस्यों की ओर से मांग पर डटे रहने के कारण 27 दिसंबर तक सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई।

जैसे ही सदन की कार्यवाही शुरू हुई। विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने अवरोध समाप्त होने तक सदन की कार्यवाही स्थगित करने की मांग की। मोदी ने गुजरात चुनाव अभियान के दौरान कहा था कि कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के आवास पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भारत में पाकिस्तान के उच्चायुक्त सोहेल महमूद और पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद कसूरी से गुजरात चुनाव पर चर्चा की थी। आजाद ने कहा, "अवरोध समाप्त करने के लिए केवल एक बैठक की जरूरत है और आज (शुक्रवार) कोई बड़ा काम नहीं है। हम भी चाहते हैं कि महत्वपूर्ण बिल बिना किसी व्यवधान के पारित हो।"

ये भी पढ़ें- संसद की कार्यवाही के दौरान केंद्रीय मंत्री कृष्णा राज की तबियत बिगड़ी

संसद की कार्यवाही शुरू होने पर विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि सरकार अवरोध खत्म करने के लिए विपक्ष के साथ बातचीत कर रही थी और जब तक इसका समाधान नहीं निकल जाता, सदन की कार्यवाही स्थगित की जानी चाहिए। संसदीय मामलों के राज्यमंत्री विजय गोयल ने विपक्ष से संसद की कार्यवाही चलने देने का आग्रह किया और कहा, "इस मुद्दे पर बातचीत चल रही है। उम्मीद करता हूं यह फलदायी हो। यह ऐसा मुद्दा नहीं है जिसका समाधान नहीं निकल सकता। मैं आपसे सदन चलने देने का आग्रह करता हूं।" कांग्रेस सदस्यों के अपनी मांग पर अड़े रहने की वजह से नायडू ने सदन की कार्यवाही बुधवार तक के लिए स्थगित कर दी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top