Top

इन देशों में दी जाती है की रेप की ऐसी सजा, सुनकर कांप उठेगी रूह

इन देशों में दी जाती है की रेप की ऐसी सजा, सुनकर कांप उठेगी रूहप्रतीकात्मक फोटो

हैदराबाद में 23 साल की पशु चिकित्सक युवती की गैंगरेप के बाद हत्या के विरोध में पूरा देश एक जुट हो रहा है। लोग दोषियों को तुरंत फांसी देने की मांग कर रहे हैं। वहीं दिल्ली के निर्भया केस में पीड़ित छात्र की मां अब तक आरोपियों की फांसी की सजा के लिए कोर्ट के चक्कर काट रही है। भारत में न्याय प्रक्रिया लंबी है, लेकिन कुछ देशों में ऐसे जघन्य अपराधों के लिए सजाए मौत ही मिलती है..

भारत में पिछले दो-तीन दशकों में अन्य अपराधों की तुलना में रेप की संख्या में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी हुई है और इनसे जुड़े दोषियों को सजा देने के मामले में हम सबसे पीछे रहते हैं।

वहीं दुनिया के दूसरे देशों की बात करें तो कुछ देश ऐसे हैं जहां बलात्‍कार के दोषियों को 24 घंटों के अंदर-अंदर सजा ए मौत दे दी जाती है। आइए जानते हैं कि किस देश में बलात्‍कार को लेकर कौन से कानून हैं और बलात्‍कारियों को कैसी सजा दी जाती है।


ये भी पढ़ें- मध्य प्रदेश सरकार का ऐतिहासिक फैसला, 12 साल से कम उम्र की बच्ची से रेप पर फांसी की सजा

सिर में मार दी जाती है गोली

उत्तर कोरिया के बारे में तो सब जानते ही होंगे कि यह देश कितना सख्त है। वैसे भी कभी भी अपराधियों के प्रति यह दया या सहानुभूति नहीं दिखाता हैं। यहां रेप के लिए केवल एक ही सजा है और वो है मौत। यहां बलात्कारी को सरेआम सिर में कई गोलियां दागी जाती हैं।

एक हफ्ते के अंदर दी जाती है फांसी

संयुक्त अरब अमीरत में कई जुर्मों के लिए कुछ अलग-अलग सजाएं हैं, लेकिन बलात्कारी को सीधे मौत की सजा सुनाई जाती है। यूएई के कानून के मुताबित यदि किसी ने सेक्स से जुड़ा अपराध किया है तो उसे सात दिनों के अंदर ही फांसी दे दी जाती है।

ये भी पढ़ें:- 'मैं एक सेक्स वर्कर हूं, ये बात सिर्फ अपनी बेटी को बताई है ताकि...'

काट दिया जाता है प्राइवेट पार्ट

सऊदी अरब में इस्लामिक कानून शरिया को मान्यता दी गई है। इस देश में किसी भी अपराध के लिए मौत की सजा का ही प्रावधान है। अगर कोई भी शख्स रेप का दोषी पाया जाता है तो अपराधी को फांसी पर टांगने, सिर कलम करने के साथ-साथ उसके यौनांगों को काटने की सजा सुनाई जा सकती है।

पत्‍थरों से मार-मार कर हत्‍या

इराक में बलात्कार करने वालों को मौत की सजा दी जाती है, लेकिन सजा देने का तरीका थोड़ा अलग होता है। रेप के गुनाहार को तब तक पत्थर मारे जाते हैं, जब तक की वो मर ना जाए। बलात्कार जैसे जुर्म करने वालों की मौत आसान नहीं होती है क्योंकि गुनाहगार पूरी पीड़ा और यातना से भी गुजरना पड़ता है।

ये भी पढ़ें:- शादी के बाद सरनेम न बदलने को लेकर दबाव क्यों, ये तो हमारा कानूनी अधिकार है

सुअरों से कटवाकर मौत की सजा

पोलैंड में बलात्‍कार के आरोपी को सुअरों से कटवाया जाता है। हालांकि अब एक नया कानून आ चुका है जिसमें आरोपी को नपुंसक बना दिया जाता है।

डाल दिए जाते हैं महिला के हॉर्मोन्‍स

इंडोनेशिया में बलात्कार करने वालों की भी अलग ही सजा है। यहां बलात्‍कार के आरोपियों को नपुंसक बनाने के साथ ही साथ उनमें महिलाओं के हॉर्मोन्‍स डाल दिए जाते हैं।

चीन में मेडिकल जांच की पुष्टि के बाद सीधे मौत की सजा

चीन उन चुनिंदा देशों में शामिल है जहां रेप के विशेष मामले में मौत की सजा का प्रावधान है। यहां पर अब तक रेप की सजा में कई लोगों को मौत के घाट उतारा भी जा चुका है। चीन में इस जुर्म की सजा जल्द-जल्‍द दे दी जाती है। साफ शब्‍दों में कहें तो नो ट्रायल, मेडिकल जांच में प्रमाणित होने के बाद मृत्यु दंड। कई बार फांसी के बाद पता चलता है कि जिसे सजा दी गई, उसनें कोई गुनाह ही नहीं किया था।

ये भी पढ़ें:- बलात्कार में 376 के अलावा भी होती हैं ये धाराएं, जानें क्या है सजा का प्रावधान

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.