Top

आईटी सेक्टर के बाद अब रेलवे कर्मचारियों के आ सकते हैं बुरे दिन, 11,000 नौकरियों पर खतरा 

आईटी सेक्टर के बाद अब रेलवे कर्मचारियों के आ सकते हैं बुरे दिन, 11,000 नौकरियों पर खतरा सभी 17 मंडलों में छंटनी के आदेश दिए गए हैं 

लखनऊ। दुनिया में सबसे ज्यादा नौकरी देने वाली संस्था भारतीय रेलवे में अब छंटनी के बादल मंडरा रहे हैं। खबर के मुताबिक रेल मंत्रालय ने सभी 17 मंडलों से करीब 11 हजार पदों को खत्म करने को कहा है।

मालूम हो कि इस समय भारत का आईटी सेक्टर पहले से ही मंदी के दौर से गुजर रहा है। वहां भी छंटनी की कई खबरें आ रही हैं हालांकि सरकार इसे भ्रामक बता रही है।

वहीं इस पर अधिकारियों की सफाई यह है कि रेलवे हर साल एक फीसदी पद खत्म करता है। इस बार कुछ भी नया नहीं होने जा रहा है।

ये भी पढ़ें: भारतीय रेलवे मलेशिया के साथ मिलाकर स्टेशनों का करेगा कायाकल्प, शॉपिंग मॉल-मल्टीप्लेक्स की मिलेगी सुविधा

पिछले दिनों नई दुनिया अखबार की एक रिपोर्ट के मुताबिक 25 मई को केंद्रीय रेलवे बोर्ड के निदेशक (ई एंड आर) अमित सरन ने इस आशय का आदेश पत्र सभी जोन मुख्यालयों को भेजा है। मौजूदा आदेश पर अधिकारी सफाई दे रहे हैं कि समीक्षा के बाद यह तय किया जाएगा कि कौन से अनुपयोगी पद समाप्त किए जाएंगे।

पीएम मोदी ही नहीं इस पूर्व प्रधानमंत्री ने भी अपने कार्यकाल के दौरान नहीं ली एक भी छुट्टी

अधिकारी का यह भी दावा है कि ऐसे पद समाप्त करने से रेलवे का कामकाज पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.