देश

फेसबुक पोस्ट को लेकर बंगाल में भड़की हिंसा, गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट, इंटरनेट सेवाएं ठप

नई दिल्ली। फेसबुक पर डाली गई तस्वीरों को लेकर पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के बशीरहाट सबडिवीजन के बादुरिया इलाके में हिंसा भड़क गई। सरकार ने 400 अर्द्धसैन्य बल और बीएसएफ जवानों को हालात पर काबू पाने के लिए भेजा है। शुक्रवार को पैगम्बर मुहम्मद के बारे में फेसबुक पर किया गया था पोस्ट। फेसबुक पर पोस्ट को डालने वाले बदुरिया के 17 साल के छात्र को गिरफ्तार भी कर लिया गया है। वहीं इलाके में चल रही हिंसा के बीच इंटरनेट सेवाएं भी बाधित हो गई हैं।

वहीं मामले में प्रदेश के बीजेपी प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने बुधवार को ममता बनर्जी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा है कि पूरे बंगाल में अराजकता फैली है। साथ ही उन्होंने ममता के धमकाने संबंधी आरोपों से इनकार किया है। ममता सरकार पर वार करते हुए उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में हिंदुओं के घर जलाये जा रहे हैं। उन्हें इस्तीफा देना चाहिए क्योंकि उनसे कानून व्यवस्था नहीं संभल रही है।

इससे पहले ममता ने एक प्रेस कांफ्रेंस में राज्यपाल पर धमकी देने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि राज्यपाल की भाषा से वे खुद को अपमानित महसूस कर रही हैं। इस बीच, इस हिंसा पर अंकुश लगाने के लिए केंद्र सरकार ने अर्धसैनिक बलों के तीन सौ जवानों को मौके पर रवाना कर दिया था।

ममता ने कहा कि फेसबुक पर एक आपत्तिजनक पोस्ट के मुद्दे पर उस इलाके में कल शाम दो संप्रदायों के बीच हिंसा शुरू हुई थी। उन्होंने भाजपा, विश्व हिंदू परिषद और उससे जुडे़ संगठनों पर राज्य में विभिन्न इलाकों में दंगा भड़काने के प्रयास का भी आरोप लगाया।

पुलिस ने आपत्तिजनक पोस्ट लिखने के आरोप में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। इस मुद्दे पर पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज राजभवन जाकर राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी से मुलाकात की थी। उसके बाद ही राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को फोन किया था।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।