पिछले साल भारत में सड़क दुर्घटना में प्रति घंटे 17 लोगों की हुई मौत    

पिछले साल भारत में सड़क दुर्घटना में प्रति घंटे 17 लोगों की हुई मौत    सड़क दुर्घटना।

नई दिल्ली (भाषा)। पिछले साल औसतन एक घंटे में 55 सड़क दुर्घटनाएं हुयी जिनमें 17 लोगों की मौत हो गयी। इनमें से करीब आधे लोगों की उम्र 18 से 35 साल के बीच है।

यह जानकारी आज यहां जारी एक सरकारी रिपोर्ट में सामने आयी है। हालांकि, कुल मिलाकर सड़क हादसों में 4.1 प्रतिशत की गिरावट आयी है लेकिन मृत्यु दर में 3.2 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। इसका अर्थ है कि सड़क पर रोजाना 400 से ज्यादा लोग मारे जाते हैं।

भारत में पिछले साल कुल 4,80,652 सड़क दुर्घटनाएं हुयी हैं जिसमें 1,50,785 लोगों की जान गयी और 4,94,624 लोग गंभीर रुप से घायल हो गये।

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी द्वारा जारी रिपोर्ट के मुताबिक हादसे के शिकार लोगों में 46.3 प्रतिशत लोग युवा थे और उनकी उम्र 18-35 साल के बीच है। यह रिपोर्ट भारत में वर्ष 2016 में हुयी दुर्घटनाओं पर आधारित है।

ये भी पढ़ें: LucknowMetro : लखनऊ में भी दौड़ने लगी मेट्रो, जानिए क्या हैं खास फीचर्स

इसमें बताया गया है कि कुल सड़क हादसों में शिकार होने वाले लोगों में 18 से 60 साल उम्र के बीच के 83.3 प्रतिशत लोग थे।

पुलिस के आंकड़ों पर आधारित रिपोर्ट के मुताबिक, सड़क हादसों (84 प्रतिशत), मौत (80.3 प्रतिशत) और घायल (83.9 प्रतिशत) के लिए सबसे अधिक जिम्मेदार एकमात्र कारण चालकों की लापरवाही है।

इस रिपोर्ट में बताया गया है कि 13 राज्यों में 86 प्रतिशत हादसे होते हैं। ये राज्य तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, गुजरात, तेलंगाना, छत्तीसगढ, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, केरल, राजस्थान और महाराष्ट्र है।

Share it
Share it
Share it
Top