केरल में बाढ़ पीड़ितों के लिए कैदी बना रहे हैं रोटियां

केरल में आठ अगस्त से बाढ़ में अब तक 210 लोगों की जान गई है और सात लाख से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं।

केरल में बाढ़ पीड़ितों के लिए कैदी बना रहे हैं रोटियां

तिरूवनंतपुरम । केरल में बाढ़ से मची तबाही के कारण राहत शिविरों में रह रहे पीड़ितों की मदद के लिए यहां सेंट्रल जेल के कैदी भी जुटे हुए हैं और वे उनके लिए रोटियां बना रहे हैं।

आठ अगस्त से बाढ़ में अब तक 210 लोगों की जान गई है और सात लाख से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं। यहां पूजाप्पुरा की सेंट्रल जेल में कुछ वर्षों से कारोबारी उद्देश्यों से चपाती, सब्जी और चिकन करी जैसी कई खाद्य सामग्रियां 'फ्रीडम' नाम के ब्रांड से बेची जा रही हैं। कम कीमत वाले पकवान शहर में कई काउंटरों पर बेचे जाते हैं।


जेल अधिकारियों के अनुसार, बीते सप्ताह बाढ़ पीड़ितों के लिए औसतन 40 से 50 हजार चपाती बनाई गईं। करीब 50 कैदियों की जमात अलग-अलग पालियों में दिन रात चपाती बनाने के काम में लगे हैं। चपाती और सब्जी के पैकेट जिले के अधिकारियों को सौंपे गए हैं। इन्हें राहत शिविरों में वितरित किया जाना है।

जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, "हमारे खाने के पैकेट मुख्य रूप से छतों और एकांत में बनी इमारतों में फंसे लोगों को हवाई मार्ग से पहुंचाने के लिए हैं।"

(इनपुट: भाषा)

यह भी पढ़ें: जल प्रबंधन में कुशल केरल क्यों डूबा बाढ़ में, यह त्रासदी सबक है पूरे देश के लिए

यह भी पढ़ें: तो फिर वर्षा का पूर्वानुमान किसान के किस काम का


Share it
Share it
Share it
Top