जीआरपी या आरपीएफ को नहीं है रेल यात्रियों के टिकट चेक करने का अधिकार

जीआरपी या आरपीएफ को नहीं है रेल यात्रियों के टिकट चेक करने का अधिकारभारतीय रेल

नई दिल्ली। अगर आप ट्रेन में सफर कर रहे हैं और कोई रेलवे पुलिस का सिपाही आपका टिकट चेक करने को मांगता है तो आप उसको साफतौर पर कह सकते हैं कि यह उसके अधिकार क्षेत्र में नहीं है। किसी भी रेल यात्री का टिकट चेक करने का अधिकारी सिर्फ टीटीई या सचल दस्ता (बैच) को ही है।

ऐसे होता है वसूली का खेल

रेलवे के नियमों के मुताबिक इस दौरान कमर्शियल स्टाफ आरपीएफ की मदद जरूर ले सकता है, लेकिन नियमों की जानकारी न होने की वजह से आम यात्रियों से आरपीएफ या जीआरपी के सिपाही जमकर वसूली करते हैं। जिसके वीडियो भी कई बार बनाए जा चुके हैं। इतना ही नहीं कई बार तो रेलवे पुलिस के सिपाही जनरल और स्लीपर के डिब्बों में पैसे लेकर सीट भी दिलाने का काम करते हैं।

ये भी पढ़ें:- तो अब ट्रेन के डिब्बों में नहीं दिखेंगे रिजर्वेशन चार्ट, जानें क्यों

जीआरपी या आरपीएफ का टिकट चेक करने का नहीं है अधिकार

रेलवे के एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि यह नियम रेलवे में काफी पहले से लागू है कि जीआरपी या आरपीएफ का काम टिकट चेक करना नहीं है। टीटीई, बैच या कमर्शियल स्टाफ ही किसी भी यात्री से टिकट मांग सकता है। जरूरत पड़ने पर रेलवे का कमर्शियल स्टाफ आरपीएफ की मदद ले सकता है। अधिकारी ने कहा कि रेलवे अब इस नियम को सख्ती से पालन कर रही है। अगर किसी भी सिपाही के खिलाफ टिकट चेक करने की शिकायत आती है तो उस पर कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़ें:- महंगाई में पेट्रोल ने तोड़ा तीन वर्षों का रिकार्ड, एक जुलाई से इतने बदले दाम

ये भी पढ़ें:- कितना होगा बुलेट ट्रेन का किराया, कितनी होगी स्पीड, जानिए इससे जुड़ी सारी बातें...

ये भी पढ़ें:- कानपुर से आईआईटी की पढ़ाई फिर जापानी लड़की से शादी, अब मिला देश की बुलेट ट्रेन का जिम्मा

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top