दो मामलों में रामपाल बरी, तीन में फैसला अभी बाकी

दो मामलों में रामपाल बरी, तीन में फैसला अभी बाकीरामपाल।

हिसार। हरियाण के हिसार के बरवाला के सतलोक आश्रम से जुड़े दो मामलों में हिसार की जिला अदालत ने रामपाल को बरी कर दिया है। उन पर सरकारी कामकाज में बाधा पहुंचाने और लोगों को बंधक बनाकर हिंसा के लिए उकसाने का आरोप था। रामपाल के अलावा 13 और लोगों को भी बरी किया गया है तीन और मामलों में फैसला अभी आना बाकी है।

24 अगस्त को हिसार की कोर्ट ने 29 अगस्त तक के लिए फैसला टाल दिया था। 18 नवंबर 2014 को सतलोक आश्रम के प्रमुख रामपाल और दूसरे लोगों के खिलाफ सरकारी ड्यूटी में बाधा पहुंचाने और रास्ता रोककर बंधक बनाने के ये दो मामले थे।

ये भी पढ़ें- जेल में ऐसे गुजरी कैदी नं. 8647 की पहली रात, आधी रोटी खाई, मिला माली का काम

एक केस में रामपाल समेत पांच दूसरे लोग और दूसरे केस में रामपाल समेत छह लोग आरोपी थे। इसके अलावा रामपाल पर देशद्रोह जैसे कई केस चल रहे हैं, जिन पर सुनवाई चल रही है। इन केसों की सुनवाई हिसार की सेंट्रल जेल वन में बनाई गई स्पेशल कोर्ट में चल रही है। नवंबर 2014 से रामपाल दूसरे आरोपियों के साथ जेल में बंद है।

रामपाल की हिसार कोर्ट में पेशी के दौरान भारी तादाद में रामपाल के समर्थक पहुंच जाते थे, जिससे पुलिस को कानून व्यवस्था बनाए रखने और इन लोगों को काबू करने में काफी मशक्कत करनी पड़ती थी। इसी वजह से हिसार की सेंट्रल जेल में ही एक स्पेशल कोर्ट बनाकर इन मामलों की सुनवाई चल रही है। ये सिर्फ दो ही मामले हैं, जिनका फैसला गुरुवार को आना था। इसके बावजूद रामपाल पर देशद्रोह जैसे कई और मुकदमे भी दर्ज हैं, जिन पर सुनवाई चल रही है।

ये भी पढ़ें- 10 साल नहीं, राम रहीम को 20 साल की कैद, दो साध्वियों से रेप में अलग-अलग सजा

Share it
Top