Top

आप ने मध्यप्रदेश में आज से शुरू की 42 दिन की ‘किसान बचाओ यात्रा’ 

आप ने मध्यप्रदेश में आज से शुरू की 42 दिन की ‘किसान बचाओ यात्रा’ प्रतीकात्मक फोटो।

भोपाल (भाषा)। मध्यप्रदेश में कर्ज से दबे किसानों की मदद करने के मकसद से आम आदमी पार्टी (आप) ने समूचे मध्यप्रदेश में आज से 42 दिन की ‘किसान बचाओ यात्रा' शुरु की है। आप के प्रदेश संयोजक आलोक अग्रवाल ने संवाददाआओं को बताया, ‘‘किसानों की समस्याओं से जुड़े 10 सूत्रीय मांगों को लेकर आम आदमी पार्टी आज से मध्यप्रदेश में 42 दिन की ‘किसान बचाओ यात्रा' निकाल रही है, जो 11 जून को समाप्त होगी।'' उन्होंने कहा, ‘‘आज प्रदेश का किसान दयनीय स्थिति में हैं। प्रदेश के किसानों को साल दर साल किसानी में नुकसान होता चला जा रहा है। प्रदेश सरकार की ओर से न उसे फसल का उचित मूल्य मिल रहा है और न ही फसल खराब होने पर मुआवजा।''

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

अग्रवाल ने दावा किया, ‘‘किसान का कर्ज इस कदर बढ़ गया है कि प्रदेश में रोजाना पांच किसान आत्महत्या कर रहे है। प्रदेश के किसानों पर लगभग 20,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। इसलिए आज किसान को मदद की जरुरत है, हम ‘किसान बचाओ यात्रा' निकाल रहे हैं।'' उन्होंने कहा कि यह यात्रा प्रदेश के सभी 51 जिलों में जाएगी। आप नेता एवं कार्यकर्ता 130 से अधिक विधानसभाओं में सभा लेंगे और किसानों से सीधा संवाद करेंगे। अग्रवाल ने बताया कि ‘किसान बचाओ यात्रा' किसानों की समस्याओं से जुड़ी 10 सूत्रीय मांगों को लेकर की जा रही है।

इसमें किसानों के सभी कर्जे को माफ करना, उनकी फसलों के खराब होने पर न्यूनतम 20,000 रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से मुआवजा देना, पिछले 10 वर्षों में जिन किसानों ने आत्महत्या की है, उनके परिवारों को भरण-पोषण के लिए पांच-पांच लाख रुपए दिए जाने की मांग, किसानों को कम से कम 18 घंटे रोजाना बिजली उपलब्ध कराना, किसी भी किसान पर इनकम टैक्स न लगाया जाना और स्वामीनाथन रिपोर्ट के आधार पर किसानों का न्यूनतम समर्थन मूल्य की मांग शामिल हैं। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पिछले विधानसभा चुनाव के पहले भाजपा के घोषणापत्र में साफ रूप से कहा था कि किसानों के कर्ज माफी के लिए ‘मध्यप्रदेश रिण राहत आयोग' बनाया जाएगा और कर्ज माफ किये जायेंगे। लेकिन, सत्ता में फिर से आने के बाद उन्होंने किसी एक किसान का कर्जा माफ नहीं किया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.