Top

ब्लू व्हेल गेम पर बैन को लेकर सुप्रीम कोर्ट का केंद्र को नोटिस, तीन हफ्ते में मांगा जवाब

ब्लू व्हेल गेम पर बैन को लेकर सुप्रीम कोर्ट का केंद्र को नोटिस, तीन हफ्ते में मांगा जवाबसुप्रीम कोर्ट।

नई दिल्ली। देश में अब तक कई बच्चों की मौत का कारण बने ब्लू व्हेल गेम को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है। साथ ही अदालत ने तीन हफ्ते में इसका जवाब भी मांगा।

सर्वोच्च न्यायलय ने यह नोटिस एक 73 वर्षीय वृद्ध द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान दिया है। याचिका लगाने वाले एडवोकेट पोन्नियम का कहना है कि इसे तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित करना चाहिए, क्योंकि युवा वर्ग इसके जरिये खुदकशी जैसा कदम उठा रहा है।

ये भी पढ़ें:- कानपुर से आईआईटी की पढ़ाई फिर जापानी लड़की से शादी, अब मिला देश की बुलेट ट्रेन का जिम्मा

चीफ जस्टिस दीपक मिश्र, जस्टिस एएम खानविलकर व जस्टिस डीवाई चंद्रचूड की पीठ ने याचिका को सुनवाई के लिए स्वीकृत कर दिया था जिसके बाद शुक्रवार को कोर्ट ने नोटिस जारी किया है। याचिका में यह भी मांग की गई है कि ब्लू व्हेल के खिलाफ लोगों के बीच जागरूकता अभियान चलाया जाए।

ये भी पढ़ें:- महंगाई में पेट्रोल ने तोड़ा तीन वर्षों का रिकार्ड, एक जुलाई से इतने बदले दाम

इसमें कहा गया कि पांच सितंबर तक ही इसकी वजह से दे सौ युवा आत्महत्या कर चुके हैं। इनमें से ज्यादातर 13, 14 व 15 साल की उम्र के थे। ऑनलाइन खेल के दौरान इन्होंने आत्मघाती कदम उठाया। वृद्ध का कहना है कि मदुरै पुलिस ने माना है कि एक युवा ने आत्महत्या से पहले 150 दोस्तों को इसे फारवर्ड कर दिया था। दिल्ली हाई कोर्ट ने 22 अगस्त को गुगल व याहू से इस पर जवाब तलब किया था।

ये भी पढ़ें:- कर्ज़माफी में दो रुपये के प्रमाण पत्र का गणित समझिए

ये भी पढ़ें:- मोदी, आबे ने बुलेट ट्रेन परियोजना की आधारशिला रखी

ये भी पढ़ें:-महंगाई में पेट्रोल ने तोड़ा तीन वर्षों का रिकार्ड, एक जुलाई से इतने बदले दाम

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.