देश

सचिन, सौरभ, लक्ष्मण के सामने सहवाग देंगे अग्नि परीक्षा 

नई दिल्ली । मुल्तान का सुलतान कहें या फिर नजफ़गढ़ का शेर, पूर्व भारतीय खिलाड़ी वीरेंदर सहवाग ने टीम इंडिया के मुख्य कोच के लिए आज आवेदन किया है। उनके साथ ही भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व मैनेजर लालचंद राजपूत, डोडा गणेश, टॉम मूडी और रिचर्ड पायबस ने भी इस पद के लिए आवेदन किया है। इसके अलावा अनिल कुंबले को डायरेक्ट ऐंट्री मिली है।

ये भी पढ़िए - सचिन तेंदुलकर पर बनी फिल्म ‘सचिन: अ बिलियन ड्रीम’ 26 मई को होगी रिलीज

बीसीसीआई ने पहले घोषणा की थी कि चैंपियंस ट्रॉफी के बाद अनिल कुंबले का कार्यकाल समाप्त होने के बाद बोर्ड नए कोच के लिए प्रक्रिया शुरू करेगा। रिपोर्ट्स के अनुसार अनिल कुंबले द्वारा केंद्रीय अनुबंध में खिलाड़ियों और कोच की सैलरी में इजाफे की मांग से खुश नहीं है।

सचिन , लक्ष्मण , गांगुली 

बीसीसीआई ने एक मीडिया रिलीज में कहा कि पुरुष टीम के मुख्य कोच के लिए आवेदन मंगवाने का उद्देश्य एक निष्पक्ष और पारदर्शी प्रक्रिया को अपनाना है। कमिटी ऑफ ऐडमिनिस्ट्रेशन द्वारा नियुक्त अधिकारी क्रिकेट अडवाइजरी कमिटी, जिसमें सचिन तेंडुलकर, सौरभ गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण शामिल हैं, कोच के चयन प्रक्रिया पर नजर रखेंगे।

ये भी पढ़िए- यहां कुछ विरले हैं, जो दूसरों के लिए जमा कर रहे कैश

बीसीसीआई ने कहा कि क्रिकेट के तीनों दिग्गज उम्मीदवारों का इंटरव्यू लेंगे और भारतीय क्रिकेट के भविष्य पर उनकी योजनाओं का प्रजेंटेशन देखने के बाद ही कोई फैसला लेंगे।

कुंबले टीम इंडिया के पूर्व कप्तान होने के साथ-साथ सबसे कामयाब गेंदबाज भी हैं। 23 जून 2016 को उन्हें एक साल के लिए भारतीय टीम का कोच नियुक्त किया गया था। उनका कार्यकाल वेस्ट इंडीज दौरे पर चार टेस्ट मैचों के साथ शुरू हुआ था। बतौर गेंदबाज कुंबले ने 619 टेस्ट और 337 वनडे विकेट लिए हैं। कुंबले को इंटरनैशनल फर्स्ट क्लास लेवल पर कोचिंग का कोई अनुभव नहीं था इसके बाद भी उन्हें कोच बनाया गया था। यह हालांकि कोच बनने के लिए बोर्ड की अहम शर्तों में शामिल था।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।