विधानसभा चुनाव: नागालैंड में 75 और मेघालय में 67 फीसदी मतदान 

विधानसभा चुनाव: नागालैंड में 75 और मेघालय में 67 फीसदी मतदान वोट देने के लिए अपनी बारी का इंतजार करते मेघालय के राज्यपाल गंगा प्रसाद 

शिलोंग/कोहिमा। मेघालय की 60 सदस्यीय विधानसभा चुनाव में मंगलवार को कुल 18.9 लाख मतदाताओं में से 67 फीसदी मतदाताओं ने मतदान के अंतिम घंटों तक अपने मतों का प्रयोग किया। अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी। दूसरी ओर, नागालैंड में मंगलवार को विधानसभा चुनाव में 75 फीसदी मतदान देखने को मिला। नई दिल्ली में उपचुनाव आयुक्त चंद्र भूषण कुमार ने कहा कि मतदान शांतिपूर्ण रहा।

इससे पहले मेघालय के शिलोंग में मुख्य चुनाव अधिकारी फ्रेडरिक रॉय खारखोनगोर ने बताया, "शाम चार बजे तक 50 फीसदी से ज्यादा मतदाता अपने मतों का प्रयोग कर चुके हैं, साथ ही राज्य के विभिन्न मतदान केंद्रों पर अभी भी बड़ी संख्या में लोग लगे हुए हैं।" उन्होंने कहा, "करीब 180 मतदान केंद्रों पर 31 ईवीएम मशीनों और 41 वीवीपैट मशीनों में तकनीकी खराबी की खबरें आई थी।"

राज्य विधानसभा 2013 के चुनावों में मेघालय में 87.97 फीसदी मतदान हुआ था। मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने आत्मविश्वास के साथ कहा कि कांग्रेस दोबारा से सत्ता में वापसी करेगी। संगमा ने कहा कि उनकी पार्टी 60 सदस्यीय राज्य विधानसभा में 31 के जादुई आंकड़े को पार करेगी। दोपहर एक बजे तक राज्य के कुल 18.9 लाख मतदाताओं में से 31.40 फीसदी लोग वोट की चोट कर चुके हैं।

रि भूई जिले में ईवीएम के साथ केंद्रों पर जातीं महिलाएं।

संगमा ने अमपाती विधानसभा क्षेत्र में चेंग्कोंपारा मतदान केंद्र पर अपना वोट डालने के बाद पत्रकारों से कहा, "मुझे राज्य के लोगों पर पूरा विश्वास है। मेरा मानना है कि उनका कांग्रेस पार्टी में पूरा विश्वास है। हम जादुई आंकड़े को जरूर पार करेंगे।" कांग्रेस ने 2013 चुनाव में 29 सीटें हासिल की थी। संगमा इस बार दो विधानसभाओं अमपाती और सोंगसक से चुनाव लड़ रहे हैं।

कांग्रेस राज्य पर एक दशक से राज कर रही है और पार्टी ने सभी 60 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं जिसमें से मंगलवार को 59 सीटों पर मतदान हो रहा है। विलियमनगर सीट पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के उम्मीदवार जोनाथन संगमा की 18 फरवरी को ईस्ट गारो हिल्स जिले में आईईडी विस्फोट में मौत के बाद इस सीट पर मतदान रद्द कर दिया गया है।

राज्यपाल गंगा प्रसाद ने पूर्वी शिलांग निर्वाचन क्षेत्र में ऑल सेंट्स मतदान केंद्र पर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। पूर्व केंद्रीय मंत्री और नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) की उम्मीदवार अगाथा के.संगमा, गृहमंत्री एच.डी.आर लिंगदोह, युनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी से विपक्ष के नेता डोनकुपर रॉय और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी प्रमुख आर्डेट मिलर बासियामोइत ने भी अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

ईवीएम के साथ केंद्र पर जाती महिला।

इस दौरान कुल 18,09,818 मतदाता 361 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे, जिनमें 31 महिलाएं हैं। इन कुल मतदाताओं में 9,13,702 महिलाओं और 89,405 पहली बार मतदान करने जा रहे युवा हैं। कुल 340 मतदान केंद्रों को संवेदनशील और 580 को अतिसंवेदनशील श्रेणी में रखा गया है। खारकोंगर ने बताया कि 183 मतदान केंद्रों पर मतदान की वीडियो रिकॉर्डिग की जाएगी। पूर्वी खासी हिल्स जिले की मावलई सीट पर सर्वाधिक 42,670 मतदाता हैं जबकि वेस्ट गारो हिल्स के दालू में 18,640 मतदाता हैं। उन्होंने बताया कि शांतिपूर्ण मतदान के लिए केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की 106 कंपनियों को तैनात किया गया है।

दूसरी ओर, नागालैंड में मंगलवार को विधानसभा चुनाव में 75 फीसदी मतदान देखने को मिला। इस दौरान सत्तारूढ़ एनपीएफ और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प में एक शख्स की मौत हो गई जबकि दो लोग घायल हो गए।

निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने यहां कहा कि कुल 11.70 लाख मतदाताओं में से 75 फीसदी से अधिक ने अपने मतों का प्रयोग किया। एक अधिकारी ने कहा कि जुनहेबोटो जिले में नागा पीपुल्स फ्रंट और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की खबरें आई जिसमें एक शख्स की गोली लगने से मौत हो गई।

नागौलंड पुलिस प्रमुख रुपीन शर्मा ने बताया, "शुरू में कुछ लोग मतदाताओं को मतदान केंद्रों में प्रवेश करने से रोक रहे थे। तभी एक अन्य समूह वहां आया और अकुलुतो विधानसभा क्षेत्र में झड़प हो गई।"शर्मा ने कहा, "दोनों समूह गोलीबारी करने लगे, जिसके कारण पुलिस को गोलियां चलानी पड़ी।" मुख्य चुनाव अधिकारी अभिजीत सिन्हा ने कहा कि अकुलुतो विधानसभा क्षेत्र में कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान दोबारा से शुरू किया गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

सुबह सात बजे मतदान शुरू होने से पहले मतदान केंद्र पर तड़के 5:45 पर एक बम विस्फोट में एक शख्स घायल हो गया। इसके साथ ही राज्य के पूर्वी हिस्से के तिजित क्षेत्र में भीड़ ने वीवीपैट मशीन को तबाह कर दिया। हालांकि सिन्हा ने कहा कि प्रभावित मतदान केंद्रों पर मतदान शांति से हुआ।

प्रमुख उम्मीदवारों में गृहमंत्री होरजू दोंकुपर रॉय लिंगदोह, सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अंप्रीन लिंगदोह, विधानसभा अध्यक्ष अबू ताहिर मंडल, युनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी से नेता प्रतिपक्ष दोंकूपर रॉय, हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रमुख अर्डेट मिलर बासैयामोइत और पूर्व केंद्रीय मंत्री व नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) की अगाथा के. संगमा शामिल हैं।

एनपीपी और भाजपा ने क्रमश: 53 और 47 उम्मीदवार खड़े किए हैं, जबकि युनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी, हिल स्टेट पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी और गारो नेशनल काउंसिल ने एक क्षेत्रीय गठबंधन बनाया है और इन सभी ने क्रमश: 35, 13 और पांच उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं।

ये भी पढ़ें- टेराकोटा : आपके ड्राइंग रूम की सजावट से फिल्मों के सेट डिज़ाइन में काम आने वाली कला

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इनपुट आईएएनएस

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top