Top

मिड-डे मील में मिला सांप, जिले के सभी स्कूलों में रुकवाया गया खाना

Karan Pal SinghKaran Pal Singh   12 May 2017 12:18 PM GMT

मिड-डे मील में मिला सांप, जिले के सभी स्कूलों में रुकवाया गया खानामिड-डे मील में सांप का बच्चा।

फरीदाबाद। सरकारी स्कूलों में मिड-डे मील की सप्लाई पर एक बार फिर सवाल खड़े हो गए हैं। हरियाणा में फरीदाबाद के राष्ट्रीय राजमार्ग -2 के पास स्थित सरकारी बालिका सीनियर सेकंडरी स्कूल में गुरुवार को मिड-डे मील में सांप का बच्चा मिलने से हड़कंप मच गया। जब तक मामले की जानकारी हुई 7 स्टूडेंट्स के साथ ही स्कूल की 6 स्टाफ ने मिड-डे मील खा लिया था। इसके बाद सभी को बीके हॉस्पिटल लाया गया, जहां मेडिकल जांच में हालत ठीक बताई गई।

इस्कॉन कंपनी की ओर से परोसा गया था खाना

मिड-डे मील चखने वालों में एक स्टूडेंट ने उल्टी, जबकि अन्य ने गले में दर्द की शिकायत की थी। सूचना मिलने के बाद जिला शिक्षा अधिकारी ने पूरे ब्लॉक में मिड-डे मिल के वितरण पर रोक लगा दी। मिड-डे मील इस्कॉन कंपनी की ओर से परोसा गया था।

आठवीं की छात्रा ने की थी खिचड़ी में सांप होने की शिकायत

गवर्नमेंट गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल में गुरुवार को मिड डे मील में खिचड़ी बांटी जा रही थी। इस दौरान स्कूल की 8वीं क्लास की स्टूडेंट सोनिया को खिचड़ी में सांप का बच्चा दिखा। उसने इसकी सूचना टीचर्स को दी, लेकिन किसी ने उसकी बात पर ध्यान नहीं दिया। इसके बाद सोनिया ने मिड डे मील बांटने वाली कर्मचारी अंजू को मिड डे मील में सांप का बच्चा होने की सूचना दी।

प्रधानाचार्य को दी गई जानकारी

मिड डे मील बांटने वाली कर्मचारी अंजू ने खिचड़ी देखी तो उसमें मृत अवस्था में सांप का बच्चा दिखा। अंजू ने इसकी सूचना स्कूल की प्रिंसिपल बृजबाला को दी। प्रिंसिपल बृजबाला ने यह सूचना जिला शिक्षा अधिकारी सतेंदर कौर को दी। जब तक जानकारी हुई तब तक लक्ष्मी और कोमल खिचड़ी खा चुकी थी और बताया गया है कि खिचड़ी खाने के बाद उनके गले में दर्द शुरू हो गया। इसके अलावा एक बच्ची के उल्टी होने की सूचना थी। जिला शिक्षा अधिकारी ने तुरंत ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसरों को लेटर जारी कर मिड डे मील में सांप होने की सूचना दी और खाने को बांटने से रोकने के आदेश दिए।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

पूरे जिले में रुकवाया गया खाना, लिया गया सैंपल

खिचड़ी में सांप का बच्चा मिलने के बाद पूरे जिले में बांटे जाने वाले खाने का वितरण रुकवा दिया गया। जिला शिक्षा अधिकारी सतेंदर कौर, उप जिला शिक्षा अधिकारी शशि अहलावत, एनआईटी-2 चौकी से पुलिसकर्मी अनिरुद्ध और मिड-डे मील बनाने वाले संस्था इस्कॉन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच के लिए खिचड़ी के सैंपल भरे। इसके बाद आनन-फानन में जिला शिक्षा विभाग सहित अन्य विभागों के अधिकारियों की बैठक बुलाई गई।

सात छात्रा, छह अध्यापकों की हुई जांच

खिचड़ी खाने के बाद कई स्कूलों की टीचर्स स्टूडेंट्स को लेकर जांच के लिए बीके हॉस्पिटल पहुंची। यहां पर डॉक्टरों ने जांच के बाद सभी को स्वस्थ्य बताया। इन स्टूडेंट्स के साथ आई टीचर पुष्पा और सुषमा ने बताया कि उनके साथ 7 स्टूडेंट कमला, अपूर्वा, आरती, हेमलता, नंदिनी, मनीषा और अनुजा आईं थीं। मिड डे मील के नियमों के अनुसार स्टूडेंट्स को खाना देने से पहले टीचर्स को भी चखना होता है। इसकी वजह से टीचर सुषमा, पुषा, रेखा, प्रिंसिपल बृजबाला और मिड डे मील वर्कर अंजू और अनीता के भी स्वास्थ्य की जांच की गई।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.