काम की बात : फेक न्यूज को पहचानें और रहें दूर

मोबाइल चौपाल का गाँव रथ गाँव, शहर, स्कूल, कॉलेज सभी जगहों पर जाकर लोगों को सोशल मीडिया के लिए जागरूक कर रहा है।

काम की बात : फेक न्यूज को पहचानें और रहें दूर

लखनऊ। "सोशल मीडिया पर आजकल फेक न्यूज़ और हेट न्यूज़ की बाढ़ सी आ गई है, सूचनाओं को शरारती तत्व इस तरह से प्रस्तुत करते हैं कि आमतौर पर सामान्य जानकारी वाले लोग उसे असली समझ लेते हैं और अन्य लोगों को भी शेयर कर देते हैं और इस तरह अपना दायरा बढ़ाती हुई ये झूठी खबरें सोशल मीडिया पर अफवाह में बदल जाती हैं।" ज्ञानी चाचा की बातें छात्र बड़ी ध्यान से सुन रहे थे।

यह मौका था लखनऊ के एसएसजेडी इंटर कॉलेज में गाँव कनेक्शन और फेसबुक की ओर से चल रही मोबाइल चौपाल का, जहां बड़ी संख्या में युवाओं ने न सिर्फ 'गाँव रथ' का स्वागत किया, बल्कि मोबाइल चौपाल में सोशल मीडिया पर बरती जाने सावधानियों के बारे में जानकारी हासिल की।

चौपाल के दौरान एक छात्र सूरज ने बताया, "मेरे पास पांच फेसबुक आईडी है और दो हजार से ज्यादा दोस्त हैं। क्या इससे कोई समस्या हो सकती है।" यहां ज्ञानी चाचा ने जब सूरज से पूछा कि आप अपने सभी दो हजार दोस्तों को जानते हैं? तो सूरज ने नहीं में अपना सिर हिला दिया। सूरज ने कहा, "मैं मुश्किल से 500 दोस्तों को ही जानता होऊंगा, बाकी लोगों को मैं नहीं जानता हूं।"

तब ज्ञानी चाचा ने न सिर्फ युवाओं को सोशल मीडिया में अनजाने दोस्तों से दोस्ती न करने की सलाह दी, बल्कि उन्हें बताया कि कैसे फेक न्यूज, फेक पिक्चर या फेक वीडियो शेयर कर देने से यह अफवाह का रूप ले लेती है।

कार्यक्रम में कॉलेज के प्रबंधक जेपी मिश्रा ने इस कार्यक्रम को उपयोगी और सामयिक बताते हुए कहा, "जिस तरह से दिनों-दिन तकनीक बढ़ रही है और बच्चे बिना किसी मार्गदर्शन के सोशल मीडिया का प्रयोग कर नकारत्मकता का शिकार हो रहे हैं, ऐसे में मोबाइल चौपाल जैसे आयोजन बेहद जरूरी है, जो युवाओं का सही मार्गदर्शन कर सके।"


मोबाइल चौपाल का गाँव रथ अपने दूसरे पड़ाव में लखनऊ के विकास नगर स्थित कॅरियर कॉन्वेंट इंटर कॉलेज पहुंचा, जहां मोबाइल चौपाल में छात्राओं ने सोशल मीडिया से जुड़े न सिर्फ कई सवाल पूछे, बल्कि कई महत्वपूर्ण जानकारियां भी हासिल कीं।

वहीं जादूगर सलमान के जादू के माध्यम से युवाओं को फेक आईडी से दूर रहने, अपना पासवर्ड किसी दूसरे को ना बताने और बिना जांचे परखे किसी संदेश, फोटो, वीडियो को शेयर न करने के बारे में बताया।

यहां कॉलेज की प्राचार्य शबाना ने कहा, "बच्चे आजकल मां-बाप से ज्यादा टाइम इंटरनेट पर गुजार रहे हैं, ऐसे में स्कूल और अभिभावक सबकी जिम्मेदारी बनती है कि बच्चों पर नजर रखें और उन्हें गाइड करें, गाँव कनेक्शन और फेसबुक ने जो पहल की है, वो वाकई क़ाबिले तारीफ है, इस समय इस मुद्दे पर जागरूकता की जरूरत सबसे ज्यादा है।"

Share it
Top