Top

पुलवामा में सीआरपीएफ कैम्प पर आतंकी हमले में चार जवान शहीद, दो आतंकी ढेर

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   31 Dec 2017 6:24 PM GMT

पुलवामा में सीआरपीएफ कैम्प पर आतंकी हमले में चार जवान शहीद, दो आतंकी ढेरप्रतीकात्मक फ़ोटो।

श्रीनगर (आईएएनएस)। जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में रविवार को सीआरपीएफ के एक प्रशिक्षण केंद्र पर हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के चार जवान शहीद हो गए और दो आतंकवादी मारे गए। जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक एस पी वैद ने आज यहां कहा कि सुरक्षा बलों को पिछले तीन दिनों से आतंकवादी हमले होने की आशंका की जानकारी थी।

भारी मात्रा में हथियारों से लैस आतंकवादियों ने मध्य रात्रि के करीब दो घंटे बाद लाथपोरा इलाके के शिविर में प्रवेश किया और हथगोला फेंका और फिर अंधाधुंध गोलीबारी की।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, "आतंकवादियों के खिलाफ अभियान में सीआरपीएफ के चार जवान शहीद हो गए, जो करीब 12 घंटे चला।"

जबरन घुसने के बाद दोनों आतंकवादी श्रीनगर -जम्मू राजमार्ग पर स्थित सीआरपीएफ शिविर में मारे जाने तक मोर्चा संभाले रहे।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) ने पुलवामा जिले के लेथपोरा इलाके में सीआरपीएफ की 185वीं बटालयिन के प्रशिक्षण शिविर पर हुए हमले की जिम्मेदारी ली है।

अधिकारी ने कहा, "आतंकवादियों से निपटने के लिए राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ और राज्य पुलिस सहित सुरक्षा बलों ने संयुक्त रूप से अभियान चलाया।"

एहतियात के तौर पर प्रशासन ने पुलवामा जिले में इंटरनेट सेवा निलंबित कर दिया है। आतकंवाद रोधी अभियान के दौरान श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर यातायात कुछ समय के लिए बाधित रहा।

आतंकी हमला होने की आशंका के बारे में सुरक्षा बलों को जानकारी थी: पुलिस महानिदेशक

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक एस पी वैद ने आज यहां कहा है कि सुरक्षा बलों को पिछले तीन दिनों से आतंकवादी हमले होने की आशंका की जानकारी थी। वैद का यह बयान पुलवामा जिले में सीआरपीएफ शिविर पर हुए आतंकवादी हमले के कुछ घंटों के भीतर आया है।

वैद ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि जब तक पाकिस्तान आतंकवादी भेजता रहेगा तब तक कश्मीर के लोग और सुरक्षा बल इस स्थिति से गुजरते रहेंगे। पुलिस महानिरीक्षक ने यहां संवाददाताओं से कहा, पिछले दो-तीन दिनों से हमले के सबंध में सूचना थी। आतंकवादी हमले की कोशिश कर रहे थे। उन्हें इससे पहले हमला करने का समय और स्थान शायद नहीं मिला था इसलिए कल रात वह यहां घुस आए।

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.