भारत-चीन सीमा पर बढ़ रहा है तनाव, सेना प्रमुख जाएंगे सिक्किम दौरे पर

भारत-चीन सीमा पर बढ़ रहा है तनाव, सेना प्रमुख जाएंगे सिक्किम दौरे परबिपिन रावत

नई दिल्ली। पिछले कुछ दिनों से भारत चीन के सिक्किम बॉर्डर पर तनाव चल रहा है। इसी के मद्देनज़र आज भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत सिक्किम के दौरे पर जाएंगे। चीन ने तीन दिन पहले कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर रोक लगा दी और तीर्थयात्रियों को बॉर्डर से वापस लौटा दिया है। ख़बरों के मुताबिक, सेना प्रमुख बिपिन रावत का यह दौरा पहले से तय था लेकिन चीन के साथ बॉर्डर पर चल रहे तनाव के कारण अब यह पहले से ज़्यादा महत्वपूर्ण हो गया है। अपनी दो दिन की यात्रा के दौरान जनरल रावत पूर्वोत्तर के विभिन्न गठन मुख्यालयों का दौरा करेंगे और क्षेत्र में ऑपरेशन संबंधी मामलों की समीक्षा करेंगे।

चीन ने रविवार को को कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर रोक लगा दी थी। चीन के विदेश मंत्रालय ने आरोप लगाया था कि सिक्किम में बॉर्डर को पार करके भारत के जवान उसके इलाके में आए हैं। उन्होंने इसे घुसपैठ बताते हुए पहले बैच के 50 भारतीयों को वापस लौटा दिया। चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि जब तक भारत के सैनिक पीछे नहीं हटेंगे तब तक वो मानसरोवर यात्रा नहीं होने देगा।

यह भी पढ़ें : चीन ने भारतीय सेना के बंकर पर चलाया बुलडोजर, सिक्किम से लगी सीमा पर बढ़ा तनाव

इसके बाद, बुधवार को भारत व भूटान से लगी अपनी सीमा पर भारतीय सेना के एक पुराने बंकर को बुलडोजर से तोड़ दिया। ख़बरों के मुताबिक, भारतीय बंकर हटाए जाने की घटना जून के पहले सप्ताह में सिक्किम के डोका ला इलाके में हुई जिससे सिक्किम क्षेत्र में भारत-चीन सीमा पर तनाव पैदा हो गया।

यह भी पढ़ें : इसरो ने किया फ्रेंच गुयाना से जीसैट-17 का सफल लॉन्च

वहां 1000 भारतीय सैनिक चीन के सामने डटे हैं। भारत-चीन के बीच जम्‍मू-कश्‍मीर से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक 3,488 किलोमीटर की सीमा है। इसमें से 220 किलोमीटर सिक्किम में आता है। खबरों के अनुसार चीन ने उस वक्त बुलडोजर जैसी भारी मशीनरी का इस्तेमाल करते हुए पुराने बंकर को जबरन हटाया, जब भारत इसे हटाने के चीन के आग्रह पर तैयार नहीं हुआ।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top