ताजमहल के पास बहुमंजिला पार्किंग गिराने के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

ताजमहल के पास बहुमंजिला पार्किंग गिराने के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोकफोटो: इंटरनेट

नई दिल्ली (भाषा)। सुप्रीम कोर्ट ने आगरा में विश्व प्रसिद्ध ताजमहल के निकट निर्माणाधीन बहुमंजिला कार पार्किंग को गिराने के अपने आदेश पर शुक्रवार को रोक लगा दी।

आगे नहीं किया जाएगा निर्माण

सुप्रीम कोर्ट ने प्राधिकारियों को निर्माण स्थल पर यथास्थिति बनाए रखने का निर्देश देते हुए कहा कि यहां अभी और आगे निर्माण नहीं किया जाएगा। ताजमहल के पूर्वी द्वार से करीब एक किलोमीटर की दूरी पर बहुमंजिला पार्किग स्थल का निर्माण हो रहा है।

No post found for this url

संरक्षण के बारे में सरकार की विस्तृत नीति पेश की जाए

न्यायमूर्ति मदन बी. लोकूर और दीपक गुप्ता की दो सदस्यीय खंडपीठ ने उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से पेश अतिरिक्त सालिसीटर जनरल तुषार मेहता से कहा कि ताज ट्रैपेजियम क्षेत्र और उसके आसपास के क्षेत्रों में प्रदूषण और संरक्षण के बारे में सरकार की विस्तृत नीति पेश की जाए। ताज ट्रैपेजियम क्षेत्र ऐतिहासिक ताजमहल के आसपास 10,400 किलोमीटर का दायरा है ओर इसका उद्देश्य इस प्राचीन स्मारक को संरक्षण प्रदान करना है।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने पार्किंग स्थल गिराने के दिए थे निर्देश

मेहता ने पीठ से कहा कि सरकार ताजमहल के संरक्षण के लिये प्रतिबद्ध है और वह इस संबंध में विस्तृत नीति पेश करेंगे। इसके साथ ही न्यायालय ने इस मामले की सुनवाई 15 नवंबर के लिये स्थगित कर दी। शीर्ष अदालत ने 24 अक्टूबर को अपने आदेश में ताजमहल के निकट निर्माणाधीन इस बहुमंजिला कार पार्किग स्थल को गिराने का निर्देश दिया था।

पहले भी न्यायालय दे चुका है निर्देश

न्यायालय ताजमहल को प्रदूषण और विषाक्त गैसों के दुष्प्रभावों से बचाने के लिये 1985 में दायर पर्यावरणविद अधिवक्ता महेश चन्द्र की जनहित याचिका पर सुनवाई कर रहा था। न्यायालय इस ऐतिहासिक स्मारक को प्रदूषण से बचाने के लिये इसके आसपास होने वाली विकास की गतिविधियों की निगरानी कर रहा है। इस संबंध में न्यायालय पहले भी अनेक निर्देश दे चुका है।

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर: संपत्ति को नुकसान पहुंचाया तो प्रदर्शनकारियों को हो सकती है पांच साल की जेल

यह भी पढ़ें: जियो टैगिंग 2 से मनरेगा पर होगी सख्त निगरानी

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ पुलिस ने वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को हिरासत में लिया

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top