सुषमा स्वराज ने अमेरिका में सिख किशोर पर हमले की रिपोर्ट मांगी  

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   4 Nov 2017 1:45 PM GMT

सुषमा स्वराज ने अमेरिका में सिख किशोर पर हमले की रिपोर्ट मांगी  भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ।

नई दिल्ली (आईएएनएस)। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने वॉशिंगटन में एक सिख बच्चे पर हुए हमले की खबर के बाद शनिवार को कहा कि उन्होंने अमेरिका स्थित भारतीय दूतावास से इस मामले की रिपोर्ट मांगी है।

सुषमा ने ट्वीट कर कहा, "मैंने अमेरिका में एक सिख बच्चे को पीटे जाने की खबर देखी। मैंने अमेरिका में भारतीय दूतावास से इस घटना की रिपोर्ट भेजने को कहा है।"

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, वॉशिंगटन के केन्ट शहर में एक 14 वर्षीय किशोर को उसके साथी ने बुरी तरह से पीटा। पीड़ित बच्चे के पिता का कहना है कि उसके बच्चे को सिर्फ इसलिए पीटा गया क्योंकि वह भारतीय मूल का है। केआईआरओ-टीवी के मुताबिक, यह घटना 26 अक्टूबर को केंट्रीज हाई स्कूल से कुछ ही दूरी पर हुई। दोनों बच्चे इसी स्कूल के छात्र हैं।

स्नैपचेट पर जारी इस मामले की क्लिप में देखा जा सकता है कि एक किशोर पीड़ित का पीछा करता है और फिर उसे मुक्का जड़ता है, जिससे वह जमीन पर गिर पड़ता है। पीड़ित पर कई बार मुक्के चलाए गए। इस दौरान पीड़ित अपने सिर को बचाने की कोशिश करता रहा और रेंगता रहा।

पीड़ित के पिता का कहना है कि वह जब भी इस वीडियो का देखता है, तो वह दर्द से कराह उठता है। वह कहते हैं, "मुझे बहुत बुरा लग रहा है क्योंकि यह मेरे बेटे के साथ हुआ है। उन्होंने उस पर पीछे से हमला किया और उसे बहुत पीटा।"

पीड़ित के पिता ने पहचान उजागर करने से मना करते हुए कहा, "यह मेरे लिए यहां अमेरिका में बहुत बड़ी बात है। मैं बयां नहीं कर सकता कि मैं क्या महसूस कर रहा हूं।"

परिवार ने कहा कि इस घटना ने शहर में नस्लीय भेदभाव को उजागर किया है। वहीं, स्कूल प्रबंधन का कहना है कि यह हमला धर्म या नस्ल से प्रेरित नहीं था बल्कि इससे पहले कक्षा में हुए एक विवाद से जुड़ा है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

पीड़ित के परिवार ने स्कूल प्रबंधन की बातों को नकारते हुए कहा कि उनका बेटा हमलावर का नाम तक नहीं जानता। पीड़ित के पिता ने कहा, "मेरे बेटे ने कभी इससे (हमलावर) से बात तक नहीं की। वह इसका नाम तक नहीं जानता।"

इस घटना के बाद से इस क्षेत्र के लोग फोन करके या संदेश भेजकर अपना रोष जता रहे हैं।

फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top