Top

हौसलों से दिव्यांगता को दी मात, सीबीएसई में बनी दिव्यांग टॉपर

Ashutosh OjhaAshutosh Ojha   28 May 2017 11:40 PM GMT

हौसलों से दिव्यांगता को दी मात, सीबीएसई में बनी दिव्यांग टॉपरतमिल छात्रा बनीं सीबीएसई दिव्यांग टॉपर  

नई दिल्ली(भाषा)।पढाई के लिये मैग्नीफाइंग ग्लास के इस्तेमाल की बाध्यता भी दर्शना एम वी को अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने से रोक नहीं पाई, और उसने दिव्यांगजन श्रेणी में सीबीएसई की 12वीं की परीक्षा में 96.6 फीसदी अंक के साथ तीसरा स्थान हासिल किया ।

ये भी पढ़ें .... भारत में पहली बार दिव्यांग को मिला ड्राइविंग लाइसेंस

त्रिवेंद्रम के आदित्य आर राज, पलक्कड की लक्ष्मी पीवी ये दोनों केरल में पढ़ती है, और तमिलनाडु के कृष्णागिरी की दर्शना एम वी इस श्रेणी में क्रमश: पहला, दूसरा और तीसरा स्थान हासिल करने में सफल रहे ।

कृष्णागिरी में नालंदा इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल की छात्रा दर्शना ने फोन पर पीटीआई (भाषा) को बताया, ‘‘मैं बहुत खुश हूं।"

ये भी पढ़ें .... सार्वजनिक परिवहन, सरकारी कार्यालयों को दिव्यांग-हितैषी बनाएं : उच्च न्यायालय

दर्शना माइक्रोकार्निया नाम की बीमारी से पीडित हैं जिसकी वजह से उनकी दाहिनी आंख की रोशनी लगभग ‘गायब' है और बायीं आंख में आंशिक दृष्टि है । दर्शना ने अपनी सफलता का श्रेय अपने अभिभावकों और शिक्षकों को दिया ।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top