मानसून में घूमने के बेहतरीन स्थान, जो आपका मन मोह लेंगे

कर्नाटक, शीलांग, मुन्नार, फूलों की घाटी, उदयपुर, एलेप्पी, कोडाइकनाल, और माउन्ट आबू जैसे भारत के स्थान बारिश के मौसम में बेहद ख़ूबसूरत दिखते हैं। अगर आप घूमने के शैकीन हैं तो आप को यहां ज़रूर जाना चाहिए।

मानसून में घूमने के बेहतरीन स्थान, जो आपका मन मोह लेंगे

लखनऊ। बारिश के सुहावने मौसम में हर कोई घूमना चाहता है। यदि आप भी इस समय घूमना चाहते हैं तो हम आप को भारत की इन जगहों के बारे में बताते हैं जो इस समय बेहद ख़ूबसूरत हैं।

साभार: इंटरनेट

1.कर्नाटक में कूर्ग

मानसून स्थलों में कर्नाटक का कूर्ग भारत के सबसे ख़ूबसूरत पहाड़ी स्टेशनों में से एक है। जहां विशाल कॉफी बाग़ानो की ख़ूबसूरती बारिश के मौसम में निखरकर बाहर आ जाती है। इसकी ख़ूबसूरती को बढ़ाने के लिए मानों बारिश के दौरान, एबी और जोग झरने पूरी शिद्दत से बहते हैं जो की एक प्रभावशाली तस्वीर बनाते हैं।

कैसे पहुंचे

कर्नाटक में कूर्ग जाने के लिए, बैंगलोर से सड़क के माध्यम से 270 किमी दूर है। निकटतम हवाई अड्डा बैंगलोर शहर में है और निकटतम रेलवे स्टेशन मैसूर है। लेकिन बारिश के दौरान पहाड़ी शहर में जाने का सबसे अच्छा तरीका अपने वाहन से जाना है।

साभार: इंटरनेट

2. शिलांग (मेघालय)

मेघालय, ऐसा लगता है की मानों बादल वहीं बसते हैं। मेघालय में शिलांग, मानसून के दौरान भारत में जाने के लिए सबसे अच्छे स्थानों की सूची में सबसे ऊपर है। बारिश के मौसम में यह पहाड़ी शहर बेहद ख़ुशनुमा माहौल को अपने में संजोय हुए है। हर जगह हरियाली, तैरते हुए बादल, दहाड़ते हुए हाथी फॉल्स और स्प्रेड ईगल फॉल्स जैसे झरने, कलकल की आवाज़ के साथ बहती नदियां किसी को भी मंत्रमुग्ध कर सकते हैं। शहर का स्थानीय भोजन और आनंददायक अनुभव आप की आत्मा को बेहद शांती का अनुभव कराएगा।

कैसे पहुंचे

शिलांग के लिए निकटतम हवाई अड्डा और रेलवे स्टेशन गुवाहाटी (असम) में 14 9 किमी की दूरी पर है। मानसून का मज़ा लेने के लिए सड़क द्वारा पहाड़ी स्टेशन पहुंचने का सबसे अच्छा तरीका है। लेकिन ड्राइविंग करते समय स्वंय को सुरक्षित रखने की दृढ़ता से सलाह दी जाती है।

साभार: इंटरनेट

3. मुन्नार (केरल)

केरल में मुन्नार को स्वर्ग की संज्ञा दी जाती है। यह पहाड़ी स्टेशन, पश्चिमी घाटों की पहले से ही खूबसूरत पहाड़ियों में जादू और रोमांस जगाता है, एक प्रमुख चाय उगाने वाला क्षेत्र है। हर जगह हरियाली और बहते मौसमी झरने अद्भुत नज़ारा पेश करते हैं। मुन्नार के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि यह भीड़ मुक्त है तथा यहाँ के होटल और रिसॉर्ट्स बड़ी छूट प्रदान करते हैं।

कैसे पहुंचे

मुन्नार रोड के माध्यम से कोचीन से 130 किमी (3 घंटे 40 मिनट) दूर है। निकटतम रेलवे स्टेशन अलुवा है और निकटतम हवाई अड्डा कोचीन है।

साभार: इंटरनेट

4. फूलों की घाटी (उत्तराखंड)

फूलों की घाटी उत्तराखंड राज्य में मौजूद है। इसे दुनिया की बेहद ख़ूबसूरत जगहों में से एक माना जाता है। इसका यह नाम पहाड़ों पर मौजूद 400 किस्म के फूलों के कारण मिला है। इस जगह को राष्ट्रीय उद्यान का हिस्सा माना जाता है। जगह-जगह पर पहाड़ों की छाया तथा बारिश के बाद खिलने वाले फूल आप के मन को लुभाने का अचूक हथियार हैं। फूलों से सजी पहाड़ी मानसून में बेहद सुंदर नज़ारा पेश करती है।

कैसे पहुंचे

गोविंदघाट के पास बस स्टैंड है जो फूलों की घाटी से 18 किमी दूर है। गोविंदघाट पहुंचने के लिए दो मार्ग हैं, एक ऋषिकेश से श्रीनगर के माध्यम से है, और वैकल्पिक मार्ग हल्दवानी से रानीखेत से गोविंदघाट तक है। देहरादून में सबसे नजदीक हवाई अड्डा है और निकटतम रेलवे ऋषिकेश में है।

साभार: इंटरनेट

5. उदयपुर (राजस्थान)

राजस्थान का नाम लेते ही आप के मन केवल रेतीला दृश्य दिखाई देता है। लेकिन मानसून के दौरान घूमनें के लिए राजस्थान में उदयपुर सबसे अच्छी जगहों की सूची में है। यह मौका वर्ष में केवल एक बार आता है, जब उदयपुर में बारिश के बाद सुखद माहौल दिखाई पड़ता है। यह शहर अरावली की पहाड़ियों से घिरा हुआ है और कई झीलों से सजते हुए 'भारत में सबसे रोमांटिक स्थलों' में से एक के रूप में दिखाई पड़ता है। यहां आप सुंदर झील पिचोला और फतेह सागर झील पर जाएं औप नाव की सवारी करते हुए लोकप्रिय स्थलों और शाही अतिथ्य का आनंद लें।

कैसे पहुंचे

उदयपुर आसानी से हवाई-जहाज़, रेल (कोठरी रेलवे स्टेशन, उदयपुर) और सड़क के माध्यम से पहुंचा जा सकता है।

साभार: इंटरनेट

6. एलेप्पी (केरल)

केरल का एलेप्पी मानसून के दौरान एक बेहद ख़ूबसूरत नज़ारा पेश करता है। इसे 'देवताओं' का अपना देश कहा जाता है और कहा जाता है की "केरल को बारिश के दौरान देवताओं द्वारा सुंदरता का आशीर्वाद प्राप्त होता है। बारिश बैकवाटर फ़ॉल को और अधिक सुंदर बनाती है। इस शानदार जगह का खुशहाल नज़ारा देखने के लिए, आपको झीलों, नदी और नहरों के माध्यम से बैकवॉटर क्रूज पर उतरना होगा। केरल आयुर्वेद के लिए भी प्रसिद्द है और मानसून आयुर्वेद के लाभ भी बढ़ाता है। आयुर्वेद की प्राचीन परंपराओं के अनुसार, इन उपचारों से गुजरने का सबसे अच्छा समय मानसून के दौरान होता है।

कैसे पहुंचे

एलेप्पी अच्छी तरह से 'पर्यटक मानचित्र' पर एक लोकप्रिय स्थान की तरह जुड़ा हुआ है। इस शहर का अपना रेलवे स्टेशन है। कोचीन से 75 किमी दूर एलेप्पी के निकटतम हवाई अड्डा है। बैकवॉटर टाउन केरल के अधिकांश शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

साभार: इंटरनेट

7. कोडाईकनाल (तमिलनाडु)

तमिलनाडु को कोडाईकनाल को 'द गिफ्ट ऑफ द वन' भी कहा जाता है जो मानसून के दौरान अपने आकर्षण की चरम सीमा पर पहुंच जाता है। तमिलनाडु का यह एक छोटा पहाड़ी शहर आपकी छुट्टीयों को यादगार बना देगा। एर तरफ़ जहां बारिश के दौरान, कोकर के वॉक और ब्रायंट पार्क आपको बेहद ख़ूबसूरत मार्ग प्रदान करते हैं, वहीं दूसरी तरफ़ डॉल्फिन नॉक, कुरुंजी अंवर मंदिर, पंभर फॉल्स, स्तंभ रॉक्स इत्यादि की सुंदरता भी बढ़ जाती हैं। बारिश के बाद झरने भी देखने के लायक होते हैं। यदि आप यहां छुट्टियां बिताते हैं तो आप वास्तव में बहुत ही भाग्यशाली व्यक्ति हैं।

कैसे पहुंचे

तमिलनाडु स्थ्ति कोडाईकनाल को सड़क मार्ग द्वारा भी आसानी से पहुंचा जा सकता है। मदुरै से 120 किमी दूर हवाई अड्डे और रेलवे कनेक्शन हैं।

साभार: इंटरनेट

8.माउंट आबू

यह राजस्थान जैसे रेतीले राज्य का एकमात्र पहाड़ी स्टेशन है। जो अरावली की हरी-भरी पहाड़ियों की गोद में बैठ कर लोगों को अपनी ओर आकर्षित करता है। यह भारत में सबसे अच्छे मानसून स्थलों में से एक है। सफेद-पत्थर से निर्मित दिलवाड़ा मंदिर जब बारिश के पानी से धुल जाता है तो यह बादलों की उठी घटाओं के नीचे एक सुंदरतम आकर्षण का केन्द्र बनता हैं। माउंट आबू के उच्चतम बिंदु 'गुरु शिखर' में कई दिलचस्प मंदिर और अद्भुत दृश्य पेश किए गए हैं जो पर्यटकों के मन को मोह लेते हैं।

कैसे पहुंचे

'माउंट आबू' न केवल राजस्थान बल्कि गुजरात से भी आसानी से पहुंचा जा सकता है। यहां का निकटतम रेलवे स्टेशन 28 किमी दूर शहर में ही है। निकटतम हवाई अड्डा उदयपुर में लगभग 210 किमी की दूरी पर स्थित है।

नोट: साभार: इंटरनेट

Share it
Share it
Share it
Top