बोरवेल में गिरने से हुई थी बच्चे की मौत, पंजाब सरकार ने सभी खुले बोरवेल बंद करने के आदेश दिए

रेस्क्यू ऑपरेशन, बोरवेल, फतेहवीर, एनडीआरएफ, Rescue operation, NDRF, borewell, Capt.Amarinder Singh, open borewellबोरवेल में फंसे बच्चे की तस्वीर।

लखनऊ। संगरूर में 150 फीट गहरे बोरवेल में गिरे दो साल के मासूम की मौत के बाद पंजाब सरकार ने सभी खुले बोरवेल को बंद करने के आदेश दिए हैं। साथ ही सरकार ने एक रिपोर्ट जारी करके सभी खुले बोरवेल का ब्योरा भी मांगा है।

इसी सोमवार को दो साल का हुआ फतेहवीर सिंह संगरूर के एक बोरवेल में गिर गया था। हादसा तक हुआ जब वह भगवानपुरा गांव में खेल रहा था। बोरवेल कपड़े से ढंका था। चार दिनों तक बचाव कार्य के बाद भी उसे बचाया नहीं जा सका। जब तक बच्चे को निकाला जाता, उसकी मौत हो चुकी थी। गांव वालों ने नम आंखों से मासूम को विदाई दी। वहीं एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी भाषा को बताया कि करीब 110 घंटे तक बोरवेल में रहने के बाद बचावकर्मियों ने मंगलवार की सुबह पांच बजे उसे बाहर निकाला।

जीवनरक्षक सुविधाओं से लैस एंबुलेंस से उसे चंडीगढ़ ले जाया गया। उसके साथ डॉक्टर भी गये। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बताया गया कि कुछ दिन पहले ही उसकी मौत हो चुकी थी। पीजीआई के फोरेंसिक चिकित्सा विभाग में डॉक्टर सेंथिल कुमार की टीम ने बच्चे का पोस्टमार्टम किया। विपक्षी दल ने राज्य सरकार पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।

घटनास्थल पर बैठे लोगों ने सरकार पर लापरवाही बरतने के आरोप लगाए

इस घटना पर मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने दुख जताते हुए मंगलवार को राज्य के आपदा प्रबंधन समूह से सभी खुले बोरवेल को तत्काल बंद करने को कहा है। सीएम ने यह भी कहा है कि ऐसी घटानाएं दोबरा नहीं होनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट करके कहा कि किसी भी जिले में ऐसा खुला बोरवेल नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यदि लोगों के पास उनके इलाके में इस तरह के किसी खुले बोरवेल की जानकारी है तो वह हेल्पलाइन नंबर 0172-2740397 पर यह जानकारी दे सकते हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top