पाकिस्तान में किन्नरों के पहले स्कूल में पढ़ाई शुरू

पाकिस्तान में किन्नरों के पहले स्कूल में पढ़ाई शुरूपाकिस्तान में किन्नरों को दी जाएगी शिक्षा।

लाहौर (भाषा)। पाकिस्तान में किन्नरों के लिए अपनी तरह का पहला स्कूल आज खुला जहां समुदाय के लोगों को शक्षिा दी जाएगी और उन्हें व्यावसायिक प्रशक्षिण दिया जाएगा। गैर सरकारी संगठन एक्सप्लोरिंग फ्यूचर फाउंडेशन (ईएफएफ) ने नगर के डिफेंस हाउसिंग अथॉरिटी इलाके में जेंडर गार्जियन स्कूल खोला है।

एनजीओ ने कहा कि पाकिस्तान के दूसरे सबसे सघन आबादी वाले शहर लाहौर में करीब 30 हजार किन्नर हैं। अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को स्कूल में कक्षाएं शुरू हुईं जहां प्राथमिक से लेकर मैट्रिक तक 12 वर्षों की शिक्षा दी जाएगी और फिर कॉलेज शिक्षा दी जाएगी। स्कूल में आठ पाठ्यक्रमों के लिए प्रशक्षिण दिया जाएगा जिसमें पाक कला, फैशन डिजाइनिंग और कॉस्मेटिक शामिल हैं।

ये भी पढ़ें- यूपी में मदरसा बोर्ड की परीक्षाएं 16 अप्रैल से, किन्नर भी होंगे शामिल

ईएफएफ के आसिफ शाहजाद ने कहा कि स्कूल में छात्रों के लिए कोई आयु सीमा नहीं है और यहां तीन किन्नरों सहित 15 शिक्षक हैं। उन्होंने दावा किया कि अभी तक 40 किन्नरों का स्कूल में नामांकन हुआ है। यह दुनिया के किसी भी इस्लामिक देश में अपनी तरह का पहला स्कूल है। शाहजाद ने दुख जताया कि अभिभावक अपने बच्चे का लिंग छुपाते हैं और समाज के डर से इस बारे में बात नहीं करना चाहते हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top