इस साल नहीं रहेगा कोई भूखा, रिकॉर्ड अन्न का होगा उत्पादन

इस साल नहीं रहेगा कोई भूखा, रिकॉर्ड अन्न का होगा उत्पादनखेत में घान को ओसाता किसान परिवार।   फोटो : विनय गुप्ता

लखनऊ। किसानों की मेहतन, अच्छा मानसून और मौसम के साथ देने के कारण इस साल देश में रिकार्ड अनाज का उत्पाद होने की संभावना है। पिछे दिनों कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्‍याण विभाग ने साल 2016-17 के लिए मुख्‍य फसलों के उत्‍पादन के चौथे अग्रिम अनुमान जारी किया। जिसमें देशभर के राज्यों से विभिन्‍न फसलों के उत्‍पादन के अनुमान मिले हैं उसके मुताबिक कुल खाद्यान उत्‍पादन 275.68 मिलियन टन होने का अनुमान है जो एक रिकॉर्ड उत्‍पादन होगा।

उत्तर प्रदेश के कृषि निदेशक ज्ञान सिंह ने बताया, ''केन्द्रीय कृषि मंत्रालय की तरफ से देशभर में मुख्‍य फसलों के उत्‍पादन के जो चौथे अग्रिम अनुमान जारी किए गए हैं उसमें रिकार्ड उत्पादन होने का अनुमान है। जिससे किसान से लेकर विभाग तक उत्साहित हैं। उत्तर प्रदेश में इस बार अच्छा उत्पादन होगा।''

कृषि विभाग के अनुमान के मुताबिक मुताबिक इस बार चावल का 110.15 मिलियन टन, गेंहू का 98.38 मिलियन टन रिकॉर्ड, मोटे अनाजों का 44.19 मिलियन टन, दालों का 22.95 मिलियन टन, तिलहन का 32.10 मिलियन टन रिकार्ड उत्पादन होने की उम्मीद है। वहीं कपास का 33.09 मिलियन गांठे उत्पादन होने का अनुमान है।

ये भी पढ़ें:- किसानों को आर्थिक रूप से इतना मजबूत कर दे कि कर्ज लेने की जरूरत न पड़ें : योगी आदित्यनाथ

1- रिकार्ड 275.68 मिलियन टन अनाज का होगा उत्पादन

चावल : इस साल देश में रिकार्ड खाद्धान उत्पादन का अनुमान है, जिसमें चावल का 110.15 मिलियन टन का अनुमान है। जो एक नया रिकार्ड भी है। इस वर्ष चावल का उत्‍पादन 2013-14 के दौरान प्राप्‍त 106.65 मिलियन टन रिकार्ड उत्‍पादन की तुलना में 3.50 मिलियन टन (3.28 प्रतिशत) अधिक है। यह पांच वर्षों के 105.42 मिलियन टन औसत उत्पादन की तुलना में भी 4.74 मिलियन टन (4.49 प्रतिशत) अधिक है। चावल के उत्पादन में 2015-16 के दौरान 104.41 मिलियन टन उत्पादन की तुलना में उल्लेखनीय रूप से 5.74 मिलियन टन (5.50 प्रतिशत) की वृद्धि हुई है।

गेहूं : इस साल गेहूं का 98.38 मिलियन टन उत्पादन होने का अनुमान है। इस वर्ष गेहूं का उत्पादन वर्ष 2013-14 के दौरान प्राप्त 95.85 मिलियन टन पिछले रिकार्ड उत्पादन की तुलना में 2.64 प्रतिशत अधिक है। 2016-17 के दौरान गेहूं का उत्पादन भी औसत गेहूं उत्पादन की तुलना में 5.77 मिलियन टन (6.23 प्रतिशत) अधिक है। मौजूदा वर्ष का उत्पादन 2015-16 के दौरान प्राप्त 92.29 मिलियन टन गेहूं उत्पादन की तुलना में 6.10 मिलियन टन (6.61 प्रतिशत) अधिक है।

मोटा अनाज : इस साल देश में रिकर्ड मोटे अनाज का 44.19 मिलियन टन उत्पादन होने का अनुमान है। जो औसत उत्पादन की तुलना में 2.85 मिलियन टन (6.88 प्रतिशत) अधिक है। यह 2010-11 के दौरान प्राप्त 43.40 मिलियन टन के पिछले रिकार्ड उत्पादन की तुलना में 0.79 मिलियन टन (1.82 प्रतिशत) अधिक है। मौजूदा वर्ष का उत्पादन 2015-16 के दौरान प्राप्त 38.52 मिलियन टन उत्पादन की तुलना में भी 5.67 मिलियन टन (14.72 प्रतिशत अधिक है।

ये भी पढ़ें:- फेसबुक की मदद से मुसहर बच्चों की अशिक्षा को पटखनी दे रहा कुश्ती का ये कोच

2 - इस साल भरपूर मिलेंगी दालें

कृषि विभाग की तरफसे जारी किए गए अनुमान के मुताबिक इस साल देश में रिकार्ड 22.95 मिलियन टन दालों का उत्पादन होगा जिसमें चना का 9.33 मिलियन टन, तूर का 4.78 मिलियन टन और उड़द का 2.80 मिलियन टन उत्पादन होगा। 2016-17 के दौरान दलहनों का कुल उत्पादन 22.95 मिलियन टन अनुमानित है जो 2013-14 के दौरान प्राप्त 19.25 मिलियन टन पिछले रिकार्ड उत्पादन की तुलना में 3.70 मिलियन टन (19.22 प्रतिशत) अधिक है। 2016-17 के दौरान दलहनों का उत्पादन पांच वर्षों के औसत उत्पादन की तुलना में भी 5.32 मिलियन टन (30.16 प्रतिशत) अधिक है। मौजूदा वर्ष का उत्पादन पिछले वर्ष के 16.35 मिलियन टन उत्पादन की तुलना में 6.61 मिलियन टन (40.41 प्रतिशत) अधिक है।

ये भी पढ़ें:- कम लागत में अधिक मुनाफा दे रही लोबिया की फसल

3 -तिलहन का होगा 32.10 मिलियन टन उत्पादन

कृषि विभाग ने ने जो अनुमान जारी किया है उसमे मुताबिक पिछले वर्ष की तुलना में 6.85 मिलियन टन (27.11 प्रतिशत) की वृद्धि के साथ, देश में कुल तिलहन का उत्पादन 32.10 मिलियन टन अनुमानित है। 2016-17 के दौरान तिलहन का उत्पादन पांच वर्षों के औसत तिलहन उत्पादन की तुलना में भी 2.84 मिलियन टन (9.72 प्रतिशत) अधिक है। इस साल तिलहन का भी रिकार्ड उत्पादन इस साल होने की उम्मीद है। जिसमें सोयाबीन का 13.79 मिलियन टन, मूंगफली का 7.56 मिलियन टन, रेपसीड एवं सरसों का 7.98 मिलियन टन और अरंडी बीज का 1.42 मिलियन टन होने का अनुमान है।

ये भी पढ़ें:- यूपी के किसान बोले- ‘कर्जमाफी हो गई अब हमारी आमदनी भी बढ़वाइए सरकार’

इस साल गन्ने की कम होगी पैदावार

कृषि विभाग के आंकड़ों के अनुसार इस साल गन्ने का उत्पादन 306.72 मिलियन टन तक अनुमानित है जो विगत वर्ष के 348.45 मिलियन टन उत्पादन की तुलना में 41.73 मिलियन टन (-11.98 प्रतिशत) कम है। ऐसे में इसका असर चीनी के उत्पादन पर पड़ सकता है। जिससे चीनी के दाम बढ़ने की भी आशंका है। देश में गन्ने का बढ़ता रकबा भी इसका एक प्रमुख कारण है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top