'भारतीय आर्मी बहुत अच्छा व्यवहार करती है, मैं भी यही करना चाहता हूं'

जम्मू और कश्मीर में प्रादेशिक भर्ती के लिए हो रही भर्ती प्रक्रिया में हज़ारों स्थानीय युवा हिस्सा ले रहे हैं। पांच मार्च को हुई भर्ती के बाद अगली भर्ती प्रक्रिया 13 मार्च को होगी।

भारतीय आर्मी बहुत अच्छा व्यवहार करती है, मैं भी यही करना चाहता हूं

लखनऊ। जम्मू और कश्मीर राज्य के स्थानीय युवा बड़ी संख्या में डोडा जिले में हो रही प्रादेशिक आर्मी की भर्ती में हिस्सा ले रहे हैं। इस ही में शामिल एक युवा नवाज़ ने कहा कि भारतीय आर्मी सबके साथ बहुत अच्छा व्यवहार करती है और वो भी ऐसा करना चाहते हैं।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, राज्य के चार जिलों डोडा, किश्तवर, रामबन और ऊधमपुर में पांच मार्च को भर्ती की प्रक्रिया हुई। ये भर्ती 57 पोस्ट्स के लिए हुए, अगली भर्ती 13 मार्च को होगी।

ये भी पढ़ें- सेना प्रमुख बोले-सोशल मीडिया पर नहीं सीधे मुझसे शिकायत करें जवान, कमांड पर रखी जाएगी शिकायत पेटी

आर्मी में भर्ती के लिए आए युवक, नवाज़ अहमद ने कहा, "मैं अभी तक 12 से 13 बार आर्मी में भर्ती के लिए प्रयास कर चुका हूं। जब तक मैं भर्ती हो नहीं जाता मैं प्रयास करता रहूंगा। मैं बचपन से ही भारतीय आर्मी में जाना चाहता था।"

वो यह भी कहते हैं कि जम्मू और कश्मीर में बेरोज़गारी सबसे बड़ी समस्या है।

"मैं देश सेवा करना चाहता हूं और साथ ही चाहता हूं कि जीने के लिए ठीक-ठाक कमा सकूं। मैं बहुत गरीब हूं और यहां से बहुत दूर रहता हूं। मेरे घर के पास वाली मस्जिद के इमाम ने मस्जिद के फण्ड से मुझे 1500 रुपए दिए ताकि मैं यहां आ सकूं। भारतीय आर्मी सबके साथ बहुत अच्छा व्यवहार करती है और मैं भी यही करना चाहता हूं," - नवाज़ ने आगे बताया।

नवाज़ की ही तरह भर्ती के लिए आए राहुल कुमार ने कहा, "मैं चाहता हूं कि सभी आर्मी में जाएं। भारतीय आर्मी युवाओं को विकास और उनके सपने पूरे करने के लिए सबसे बेहतर मंच प्रदान करती है। आर्मी न सिर्फ हमें रोज़गार के अवसर उपलब्ध कराती है बल्कि हमारे परिवारों की सुरक्षा भी करती है।"

ये भी पढ़ें- अक्षय कुमार की सराहनीय पहल, आर्मी के जवानों के बाद किसानों के लिए उठाया कदम

पुलवामा जिले में हुए आतंकवादी हमले के एक हफ्ते बाद बारामुला जिले में हुई भर्ती प्रक्रिया में भी हज़ारों कश्मीरी युवाओं ने हिस्सा लिया था। ये भर्ती 111 पोस्ट्स के लिए थी।

Share it
Top