चार राज्यों में आंधी-तूफान का कहर, 41 की मौत, आज भी खराब रह सकता है मौसम

उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में आंधी के साथ बारिश होने के कारण रविवार को 41 लोगों की मौत हो गयी और भारी नुकसान हुआ। वहीं मौसम वैज्ञानिकों ने आज भी मौसम खराब रहने की चेतावनी दी है।

चार राज्यों में आंधी-तूफान का कहर, 41 की मौत, आज भी खराब रह सकता है मौसम

उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में आंधी के साथ बारिश होने के कारण रविवार को कम से कम 41 लोगों की मौत हो गयी और भारी नुकसान हुआ। वहीं मौसम वैज्ञानिकों ने आज भी मौसम खराब रहने की चेतावनी दी है। अधिकारियों ने बताया कि उत्तर प्रदेश में आंधी के कारण 18 लोगों की मौत हो गई, जबकि पश्चिम बंगाल में आंधी के कारण चार बच्चों समेत कम से कम 12 लोग मारे गये। आंध्र प्रदेश में नौ और दिल्ली में दो लोगों की जान चली गई।

दिल्ली समेत उत्तर भारत में कई जगहों पर आई प्रचंड आंधी के कारण बड़ी संख्या में पेड़ गिर गये, सड़क, रेल एवं वायु यातायात सेवाएं प्रभावित हुईं। मौसम विभाग के अनुसार हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड , पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, मध्य प्रदेश, झारखंड , असम , मेघालय , महाराष्ट्र , कर्नाटक , केरल और तमिलनाडु में छिटपुट स्थानों पर कल आंधी के साथ बारिश हुई।


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर कहा," देश के कुछ हस्सिों में आंधी के कारण लोगों की मौत होने से दुखी हूं। शोक संतप्त परिजनों को मेरी संवेदनाएं। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की ईश्वर से प्रार्थना करता हूं।" आंधी की वजह से लोगों की मौत पर दुख प्रकट करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर पार्टी कार्यकर्ताओं से मृतकों के शोक संतप्त परिवारों को हर संभव मदद करने के लिये कहा। उत्तर प्रदेश , राजस्थान , तेलंगाना , उत्तराखंड और पंजाब में करीब दस दिन पहले भी तूफान आया था जिसमें 134 लोगों की मौत हुई थी और 400 से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे। इसके बाद नौ मई को उत्तर प्रदेश के कई हस्सिों में फिर से अंधड़ आया था जिसमें 18 लोगों की मौत हो गई और 27 अन्य जख्मी हो गए थे।


अधिकारियों ने बताया कि उत्तर प्रदेश में आंधी के कारण 18 लोगों की मौत हो गयी जबकि 28 लोग घायल हो गये। दिल्ली एवं आसपास के इलाकों में 109 किलो मीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चली धूल भरी आंधी और तेज हवाओं के कारण दो लोगों की मौत हो गयी और 18 लोग घायल हो गये। इसके चलते विमान , रेल और मेट्रो के परिचालन पर असर पड़ा। पश्चिम बंगाल के आपदा प्रबंधन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य में भारी बारिश के बीच आसमानी बिजली गिरने से चार बच्चों समेत कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई, जबकि 15 से ज्यादा लोग घायल हो गये।
साभार: भाषा

Share it
Share it
Share it
Top