यात्रीगण कृपया ध्यान दें: ट्रेन का ड्राइवर नहाने गया है, दो घंटे बाद आएगा 

यात्रीगण कृपया ध्यान दें: ट्रेन का ड्राइवर नहाने गया है, दो घंटे बाद आएगा पटना मुगलसराय पैसेंजर ट्रेन के चालक एमके सिंह

नई दिल्ली। रेल मंत्री सुरेश प्रभु भारतीय रेल को बेहतर बनाने के लिए नई-नई योजनाएं और सुविधाएं ला रहे हैं ताकि यात्रियों को सफर के दौरान होने वाली परेशानियों को खत्म किया जा सके। लेकिन तब क्या हो जब हजारों यात्रियों की जिंदगी को ताक पर रखकर ट्रेन का ड्राइवर गाड़ी को पटरी पर छोड‍़कर ही दो घंटों के लिए गायब हो जाए।

बिहार से एक गजब का मामला सामने आया है। पटना मुगल सराय पैसेंजर बक्सर रेलवे स्टेशन पर पैसेंजर ट्रेन आकर रुकी और ट्रेन का ड्राइवर गाड़ी को छोड़कर नहाने चला गया। फिर खाना खाया और थोड़ा आराम भी किया और इस काम को करने में उसने पूरा दो घंटे का समय लगाया। इस बीच पूरी ट्रेन ड्राइवर का इंतजार करती रही।

पैनल कंट्रोलर की ओर से सिग्नल मिलने के बाद भी जब ट्रेन आगे नहीं बढ़ी तो रेलवे स्टेशन पर अनाउंस कराया गया। ट्रेन संख्या 63227 पटना मुगलसराय पैसेंजर ट्रेन के चालक अपनी गाड़ी बढायें। अनाउंस के बाद भी जब ट्रेन स्टेशन से आगे नहीं बढ़ी तो यात्रियों ने हंगामा कर दिया। जब स्टेशन मैनेजर द्वारा इसकी जांच करायी गयी तो पता चला कि ट्रेन का ड्राइवर नहाने और खाना खाने चला गया है। इसके बाद बकायदा इस बात का अनाउंसमेंट कराया गया और यात्रियों से शांति बनाए रखने की अपील की गई।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

रेलवे स्टेशन पर दर्ज समय के मुताबिक 63227 अप अपने निर्धारित समय 11:00 बजे से 5 मिनट पूर्व 10:55 में ही पहुंची थी। जिसे निर्धारित समयानुसार 11:05 में बक्सर स्टेशन छोड़ना था। पैनल कंट्रोलर की ओर से ट्रेन का सिग्नल दिन के 11 बजकर 21 मिनट पर दे दिया गया। लेकिन, जब ट्रेन 20 मिनट बाद भी स्टेशन से नहीं गई तो पैनल कंट्रोलर ने अनाउंस कराया कि पटना से मुगलसराय जाने वाली 63227 अप के ड्राइवर ट्रेन का सिग्नल हो गया है, गाडी स्टार्ट करें। जब इसके बाद भी ड्राइवर और गार्ड की ओर से इस बात का कोई असर हुआ तो कंट्रोल रूम ट्रेन ड्राइवर और गार्ड की तलाश शुरू की गई। तब ये पता चला कि ट्रेन के ड्राइवर एमके सिंह नहाने-खाने के लिए घर गए हैं। उनके आने पर ही ट्रेन आगे जा पाएगी।

इस बात की सूचना मिलने पर यात्रियों ने पैनल रूम में जाकर हंगामा किया। पैसेंजर ट्रेन डाउन लाइन के 2 नंबर प्लेटफॉर्म पर खड़ी थी। इस वजह से पटना-अहमदाबाद व राजेंद्रनगर लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस को प्लेटफॉर्म संख्या तीन से गुजरी। लेकिन बक्सर स्टेशन पर यह ट्रेन 2 घंटे 12 मिनट तक खड़ी रही। यात्रियों के आक्रोश के बाद किसी तरह ड्राइवर को बुलाया गया। ट्रेन बक्सर स्टेशन से 1 बजकर 17 मिनट पर रवाना किया गया। पैनल कंट्रोलर जितेंद्र कुमार प्रसाद ने बताया कि ड्राइवर और गार्ड के नहीं रहने से ट्रेन के जाने में देरी हुई है। यात्रियों के दबाव में पैनल कंट्रोलर जितेंद्र कुमार प्रसाद ने फिर अनाउंस करवाया कि उक्त ट्रेन के ड्राइवर खाना खाने चले गए हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top