बनवा रहे हैं प्लास्टिक का आधार कार्ड तो हो जाएं सावधान

बनवा रहे हैं प्लास्टिक का आधार कार्ड तो हो जाएं सावधानप्रतीकात्मक तस्वीर।

अगर आप आधार को प्लास्टिक कार्ड के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं तो सावधान हो जाइए क्योंकि ऐसा करने से आपका डाटा गलत हाथों में जा सकता है। साथ ही आधार का क्यूआर भी काम करना बंद कर सकता है। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआइडीएआइ) ने इसके इस्तेमाल को लेकर नागरिकों को चेताया है।

यूआईडीएआई ने जारी बयान में कहा है कि आधार का नंबर या उसका प्रिंट ही पूरी तरह से मान्य है। उसके लिए किसी भी नागरिक को प्लास्टिक कार्ड बनवाने की आवश्यकता नहीं है। गौरतलब है कि यूआईडीएआई को लगातार ये शिकायत मिल रही थी कि कुछ लोग 70 से 300 रुपए लेकर लोगों के प्लास्टिक आधार बना रहे हैं जो कि अनावश्यक है।

ये भी पढ़ें- आधार कार्ड में करवाना है कोई बदलाव, देना पड़ेगा 18 फीसदी जीएसटी

प्लास्टिक या पीवीसी आधार स्मार्ट कार्ड अक्सर गैर-जरूरी होते हैं। इसकी वजह यह है कि गैर-अधिकृत प्रिंटिंग से क्विक रेस्पांस (क्यूआर) कोड आमतौर पर काम करना बंद कर देते हैं। बयान के अनुसार, 'इसके अलावा यह भी आशंका है कि आप की मंजूरी के बिना ही गलत तत्वों तक आपकी निजी जानकारी साझा हो जाए।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

संबंधित खबरें- 71 करोड़ से ज्यादा मोबाइल फोन आधार से जुड़े

... तो फेसबुक अकाउंट बनाने के लिए भी ज़रूरी होगा आधार

Tags:    aadhar 
Share it
Top