Top

यूपी पंचायत चुनाव: गांव की सरकार बनाने की तैयारी शुरू, एक अक्टूबर से मतदाता सूची का पुनरीक्षण

देश की राजनीति की दिशा और दशा तय करने वाले उत्तर प्रदेश में राज्य निर्वाचन की अधिसूचना जारी करने के बाद गांव की सरकार चुनने की तैयारी का बिगुल बज गया है। कोरोनाकाल की वजह से अभी चुनाव की तारीखें घोषित नहीं हुई हैं पर आज से औपाचारिक शुरुआत हो गई है।

Ajay MishraAjay Mishra   15 Sep 2020 5:38 PM GMT

यूपी पंचायत चुनाव: गांव की सरकार बनाने की तैयारी शुरू, एक अक्टूबर से मतदाता सूची का पुनरीक्षण

कन्नौज। उत्तर प्रदेश की ग्राम पंचायतों के चुनाव की तैयारियों का बिगुल बज चुका है। यूपी में वर्ष 2021 में पंचायत चुनाव कराए जाएंगे। इस साल गांव की मतदाता सूची पुनरीक्षण अभियान चलेगा। राज्य निर्वाचन ने आज इसकी अधिूसचना जारी कर दी गई है। एक अक्तूबर से ग्राम पंचायतों के रहने वाले युवा वोट बनवा सकेंगे।

उत्तर प्रदेश की 58,758 ग्राम पंचायतों के मौजूदा ग्राम प्रधानों का कार्यकाल आगामी 25 दिसंबर को समाप्त हो रहा है, लेकिन कोरोनाकाल की वजह से चुनाव की तिथियाँ अभी तक घोषित नहीं हुई थीं। आज से औपचारिक शुरुआत हो गयी है। ग्राम पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने कार्यक्रम तय कर दिए हैं।

ग्राम पंचायत को देश की सबसे छोटी संसद कहा जाता है। वैसे तो अक्तूबर के बाद प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम पंचायत सदस्य व जिला पंचायत सदस्य पदों पर चुनाव होना था, लेकिन कोरोना काल की वजह से मतदाता सूची पुनरीक्षण का अभियान भी नहीं शुरू हो सका। 15 सितम्बर को उत्तर प्रदेश में मतदाता सूची पुनरीक्षण को लेकर अधिूसचना जारी कर दी गई। एक अक्तूबर से 12 नवम्बर तक गांव के रहने वाले युवक-युवतियां मतदाता सूची में अपना नाम शामिल करा सकते हैं।


कन्नौज के जिला निर्वाचन अधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने पंचायत चुनाव के लिए मतदाता सूची पुनरीक्षण अभियान की अधिसूचना मंगलवार को जारी कर दी गई। उन्होंने जारी की अधिसूचना में कहा है कि 15 सितम्बर से 30 तारीख तक सम्बंधित बीएलओ एवं पर्यवेक्षक पुनरीक्षण अभियान के लिए स्टेशनरी प्राप्त कर सकेंगे। उसके बाद बीएलओ घर-घर जाकर गणना व सर्वेक्षण एक अक्तूबर से 12 नवम्बर तक करेंगे। जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा है कि पहली अक्तूबर से पांच नवम्बर तक वोट के लिए ऑनलाइन आवेदन भी किए जा सकते हैं। ऑनलाइन आवेदन के बाद बीएलओ उसकी सत्यता जांचने के लिए घर-घर जाएंगे। इसके लिए छह नवम्बर से 12 तारीख तक का समय मुकर्रर किया गया है। 13 नवम्बर से पांच दिसम्बर तक कम्प्यूटर से सूची बनाई जाएगी। गलत नामों पर दावे एवं आपत्तियां लेने की तारीख छह दिसम्बर से 12 तक है। इनका निस्तारण 13 से 19 दिसम्बर तक होगी। 20 से 28 दिसम्बर तक सूची दुरुस्त होगी। 29 दिसम्बर 2020 को मतदाता सूची का प्रकाशन होगा। कोई भी व्यक्ति सूची देख सकता है।

कोविड-19 नियमों का पालन करना जरूरी

जिला निर्वाचन अधिकारी राकेश कुमार मिश्र ने बताया कि मतदाता सूची पुनरीक्षण अभियान में कोविड-19 से बचने के नियमों का पालन करना जरूरी होगा। बीएलओ कंटेन्मेंट एरिया में नहीं जाएंगे। फेस मास्क लगाएंगे। भीड़ नहीं लगने देंगे। मतदाता सूची पुनरीक्षण अभियान व आवेदनों की जांच के दौरान फिजिकल डिस्टेंसिंग रखेंगे। साथ ही मोबाइल में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड होना जरूरी रहेगा।


कन्नौज में 814 बीएलओ लगाए गए

सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी कन्नौज बिनीत कटियार ने बताया कि जिलेभर की सभी 504 ग्राम पंचायतों में मतदाता सूची पुनरीक्षण अभियान में 814 बीएलओ लगा दिए गए हैं। वर्तमान में 1037725 मतदाता हैं। पुनरीक्षण अभियान के बाद संख्या बढ़ेगी। साथ ही मृतकों व बाहर रहने वाले मतदाताओं के नाम भी हटाए जाएंगे।

कन्नौज पंचायत चुनाव के जरूरी तथ्य

-504 ग्राम पंचायत हैं।

-682 क्षेत्र पंचायत सदस्य हैं।

-6392 ग्राम पंचायत सदस्य हैं।

-28 जिला पंचायत सदस्य हैं।

-08 ब्लॉक प्रमुख पद हैं।

-81 न्याय पंचायत हैं।

-814 मतदान केंद्र हैं।

-1875 मतदान बूथ हैं।


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.