ओडिशा में सेप्टेज प्रबंधन के गुर सीखेंगे उत्‍तर प्रदेश के अधिकारी

यूपी जल निगम के माध्यम से 31 शहरों में फिकल स्लज ट्रीटमेंट प्लांट्स (एफएसटीपी) की स्थापना और 21 शहरों में एसटीपी में फिकल कीचड़ के सह-उपचार के लिए निविदाएं आमंत्रित की हैं।

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • koo
ओडिशा में सेप्टेज प्रबंधन के गुर सीखेंगे उत्‍तर प्रदेश के अधिकारी

लखनऊ। सेंटर फॉर साइंस एंड एनवायरनमेंट यूपी के सेप्टेज मैनेजमेंट से जुडे अधिकारियों के लिए तकनीकी प्रशिक्षण और फील्ड एक्सपोजर विजिट का आयोजन कर रहा है। यह आयोजन ओडिशा के भुवनेश्वर और पुरी में 19 से 21 दिसंबर तक किया जाएगा। इस प्रशिक्षण का उद्देश्य एक कैडर को विकसित करना है जो फिकल स्लज मैनेजमेंट की चुनौतियों, मुद्दों को समझे और इसे राज्य के लक्षित शहरों में लागू करे।

यूपी जल निगम के माध्यम से 31 शहरों में फिकल स्लज ट्रीटमेंट प्लांट्स (एफएसटीपी) की स्थापना और 21 शहरों में एसटीपी में फिकल कीचड़ के सह-उपचार के लिए निविदाएं आमंत्रित की हैं। ऐसे में तकनीकी प्रशिक्षण अधिकारियों को एफएसटीपी और सह उपचार इकाइयों को लागू करने में सहायता करेगा।

प्रशिक्षण का उद्देश्य

- फिकल स्‍लज और सेप्टेज मैनेजमेंट (एफएसएसएम) के विभिन्न घटकों से संबंधित जानकारी को बढ़ाना।

- मौजूदा सीवेज उपचार संयंत्र, साइट चयन और उचित तकनीक की पहचान करना।

- विनियामक आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए आवश्यक एफएसटीपी की निगरानी सहित संचालन, रखरखाव के बारे में जानकारी।

- शहरों में एफएसएसएम को कार्यान्वित करने के लिए व्यापार मॉडल और वित्त पोषण आवश्यकता को समझना।

प्रशि‍क्षण में यूपी जल निगम के इंजीनियर, AMRUT के पीएमयू और एसपीएमजी गंगा के पीएमयू शामिल हैं। इसमें 6 अतिरिक्त लोग इस एक्सपोजर विज़िट में शामिल हो गए हैं। इसमें बिजनौर और मिर्जापुर के एसडीएम, मथुरा और झांसी के नगर आयुक्त और बिजनौर और चुनार के कार्यकारी अधिकारी शामिल हैं।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.