भारत में सात महीने में सात फीसदी से ज्यादा घटा यूरिया का आयात

भारत में सात महीने में सात फीसदी से ज्यादा घटा यूरिया का आयातप्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली। चालू वित्त वर्ष में अप्रैल से अक्टूबर के दौरान देश का यूरिया आयात 7.25 प्रतिशत कम होकर 37.10 लाख टन पर आ गया। पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 40 लाख टन रहा था। यह आंकड़ा फर्टिलाइजर एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने जारी किया।

भारत यूरिया का दूसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता है। देश का यूरिया उत्पादन कुल मांग 320 लाख टन से कम रहने के कारण करीब 50-70 लाख टन यूरिया का सालाना आयात करना पड़ता है।

आंकड़ों के अनुसार, चालू वित्त वर्ष में देश का यूरिया उत्पादन पिछले वित्त वर्ष के 242 लाख टन की तुलना में करीब 240 लाख टन रहने की उम्मीद है।

ये भी पढ़ें-यूरिया-डीएपी से अच्छा काम करती है बकरियों की लेड़ी, 20 फीसदी तक बढ़ सकता है उत्पादन

चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-अक्तूबर अवधि के दौरान घरेलू यूरिया उत्पादन 135.3 लाख टन रहा है। पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 140.4 लाख टन रहा था। यूरिया का उत्पादन खर्च करीब 16 हाजर रुपये प्रति टन आता है जबकि इसे छूट के साथ 5,360 रुपये प्रति टन की दर पर बेचा जाता है।

ये भी पढ़ें:- यूरिया बनाने के लिए देश की हर तहसील में बनेंगे यूरिन बैंक

‘भारत में वर्ष 2017-18 में तीन लाख टन घट सकता है यूरिया का उत्पादन’

Share it
Top