Top

उत्तर प्रदेश : अच्छा काम करने वाली ग्राम पंचायतों को मिलेगा पुरस्कार, 25 अक्टूबर तक करें आवेदन

उत्तर प्रदेश में ग्राम पंचायत चुनाव की सुगबुगाहट के बीच मुख्यमंत्री पंचायत प्रोत्साहन पुरस्कार योजना के जरिये अच्छा काम करने वाली ग्राम पंचायतों को पुरस्कार देने की घोषणा की गयी है।

Ajay MishraAjay Mishra   10 Oct 2020 12:23 PM GMT

उत्तर प्रदेश : अच्छा काम करने वाली ग्राम पंचायतों को मिलेगा पुरस्कार, 25 अक्टूबर तक करें आवेदनउत्तर प्रदेश में ग्राम पंचायत चुनाव की सुगबुगाहट के बीच अच्छा काम करने वाली ग्राम पंचायतों को मिलेगा पुरस्कार। फोटो : गाँव कनेक्शन

कन्नौज/लखनऊ (उत्तर प्रदेश)। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री पंचायत प्रोत्साहन पुरस्कार योजना के लिए ग्राम पंचायतों के ऑनलाइन आवेदन शुरू हो चुके हैं।

इस योजना के तहत प्रधानों और सचिवों को ग्राम पंचायतों में बीते साल कराए अच्छे काम गिनाने हैं और उनके अच्छे कामों के लिए उन्हें पुरस्कार दिया जाएगा। इसके लिए आवेदन की आखिरी तारीख 25 अक्तूबर है।

आवेदन में 100 अंकों की प्रश्नावली है जो उन्हें ऑनलाइन हल करनी होगी। इसे लेकर अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने प्रदेश के सभी जिलों में पत्र जारी कर निर्देश दिए हैं।

पंचायती राज विभाग के डीपीएम कन्नौज शलभ त्रिपाठी 'गाँव कनेक्शन' से बताते हैं, "हमारी पंचायत पोर्टल पर 15 सितम्बर से आवेदन शुरू हो चुके हैं, जो 25 अक्तूबर तक होंगे। 100 अंकों की प्रश्नावली के साथ ग्राम पंचायत अधिकारी या ग्राम विकास अधिकारी और प्रधान की ओर से साक्ष्यों के आधार पर एडीओ पंचायत की देखरेख में ऑनलाइन आवेदन भरे जाएंगे।"

डीपीएम ने बताया कि दो नवम्बर को जिला स्तर पर डीएम की अध्यक्षता में गठित परफारमेंस असेसमेंट कमेटी की ओर से परीक्षण और अनुमोदन कर स्थलीय सत्यापन के लिए न्यूनतम दो गुना ग्राम पंचायतों का चयन होगा। जबकि 22 नवम्बर को राज्य स्तरीय समिति के समक्ष ऑनलाइन फ्रीज किया जाएगा और 28 नवम्बर से 10 दिसम्बर तक अलग-अलग सत्यापन आदि की प्रक्रिया चलेगी।


आदेश के मुताबिक दिसम्बर में कृषि उत्पादन आयुक्त की अध्यक्षता में गठित राज्य स्तरीय समिति के अनुमोदन के बाद ग्राम पंचायतों को पुरस्कार की धनराशि और पुरस्कार दिया जाएगा।

डीपीआरओ कन्नौज जितेंद्र कुमार मिश्र बताते हैं, "प्रधान लाभ पाने के लिए आवेदन जरूर करें। बीते वर्ष के विकास कार्यों का ब्योरा देना होगा। हर जिले में लाभ जरूर मिलेगा।"

इस प्रकार से तय किये हैं नंबर

प्रश्नावली के 100 नंबर में शिक्षा के नौ फीसदी, स्वच्छता प्रबंधन के 22 फीसदी, पर्यावरण सुरक्षा के 16 फीसदी, बेहतर स्वशासन पर 20 फीसदी, सामाजिक सौहार्द एवं सहभागिता में 14 प्रतिशत और नियोजित विकास ग्राम पंचायत विकास योजना के 19 फीसदी अंक हैं।

जिले की कमेटी में यह हैं अधिकारी

जिलास्तरीय कमेटी में इस योजना के अध्यक्ष जिलाध्यक्ष हैं। सीडीओ उपाध्यक्ष और डीपीआरओ सदस्य सचिव हैं। इसके अलावा सीएमओ, डीडीओ, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी व अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत सभी सदस्य होंगे।

यह भी पढ़ें :

कोरोना काल में न छूटे बच्चों की पढ़ाई, टीवी और स्पीकर के जरिए गाँव के मोहल्लों में पढ़ा रहा यह शिक्षक

एक एकड़ में 15 हजार रुपये खर्च कर लौकी की खेती से साल भर में 1 लाख रुपये कमाता है ये किसान


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.