बदायूं में गन पॉइंट पर चेकिंग: SSP ने कहा- यह मॉक ड्रिल, लोग अर्थ का अनर्थ बना रहे

Ranvijay SinghRanvijay Singh   25 Jun 2019 7:08 AM GMT

बदायूं में गन पॉइंट पर चेकिंग: SSP ने कहा- यह मॉक ड्रिल, लोग अर्थ का अनर्थ बना रहे

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश की पुलिस का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। बदायूं के इस वीडियो में दिख रहा है कि यूपी पुलिस गन पॉइंट पर चेकिंग कर रही है। इस वीडियो के सामने आने के बाद से ही लोग यूपी पुलिस की आलोचना कर रहे हैं और इस तरीके को गलत बता रहे हैं। वहीं, कई न्‍यूज वेबसाइट भी इस हेडिंग के साथ चला रहे हैं- 'बदायूं में यूपी पुलिस गन पॉइंट पर चेकिंग कर रही'। हालांकि बदायूं के एसएसपी का कहना है कि यह मामला वैसा नहीं जैसा समझा जा रहा है।

इस वीडियो पर एसएसपी का क्‍या कहना है यह हम आगे बताएंगे, पहले देखें सोशल मीडिया पर यह वीडियो कैसे पोस्‍ट किया जा रहा-

इस वीडियो पर एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी ने गांव कनेक्‍शन को फोन पर बताया, ''यह मॉक ड्रिल का वीडियो है, इसका लोगों ने अर्थ का अनर्थ कर दिया है। जैसे आर्मी का रिहर्सल होता है, वैसा ही यह रिहर्सल था। अब इलेक्ट्रॉनिक मीडिया इसकी तमाम तरह की विवेचना कर रही है तो हम क्‍या बताएं।''


इस सवाल पर कि जिन लोगों की चेकिंग की गई वो कौन थे? क्‍या उन्‍हें पता था? इसके जवाब में एसएसपी ने कहा, ''वो अपने ही लोग थे, साथ ही गांव वालों से बात करके मॉक ड्रिल कराई गई थी। इसका लोग अर्थ का अनर्थ निकाल रहे हैं। हर साल वाहन की चेकिंग के दौरान एक-दो लोगों की मौत होती है। 2018 में एक होम गार्ड को मार दिया गया था। 2016 में एक दारोगा और सिपाही को गोली मार दी गई थी, जिनकी मौत हुई थी। यह टेक्टिकल चेकिंग है यानि जो सिखाया गया है उसकी तरह है।''


एसएसपी ने कहा, ''कभी कभी स्‍थिति ऐसी आती है कि कोई क्राइम करके भाग रहा है, उसके पास हथियार भी है। उसने किसी व्‍यापारी को गोली मार दी है और वो भाग रहा है। तो पुलिस ऐसे चेक करेगी तो अपराधी गोली मार कर भाग जाएगा। उसे कैसे रोकना है यह उसकी ट्रनिंग थी। यह पूरी तरह से मॉक ड्रिल थी।''

हमारा उद्देश्‍य कुछ और था: एसएसपी

एसएसपी ने आगे बताया, ''यह हमेशा के लिए लागू नहीं है, 5-7 मिनट के लिए लागू की गई थी।'' क्‍या वीडियो पुलिस ने बनाया इस सवाल पर एसएसपी कहते हैं, ''वीडियो तो वहां के लोकल मीडिया के लोग थे उन्‍होंने बनाई, उन्‍हें लगा कि इससे वाहवाही मिलेगी। हमारा उद्देश्‍य कुछ और था और इसकी वजह से तिल का पहाड़ बन गया। अब इसकी वजह से हमारा नुकसान हो रहा है, यह हमारे तरीके को बता रहे हैं कि पुलिस ऐसे चेकिंग करती है, इससे क्रिमिनल और होशियार हो जाएगा।''


फिलहाल यह वीडियो सोशल मीडिया में खूब शेयर किया जा रहा है। हालांकि वीडियो के संज्ञान में आने के बाद यूपी पुलिस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी एसएसपी के वर्जन को ट्वीट किया गया, जिसमें वो यही बात कहते दिखते हैं-


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top