आदिवासी महिलाओं पर पुलिस थाने में हो रहे अत्याचार को सामने लाने वाली डिप्टी जेलर वर्षा डोंगरे निलंबित

Anusha MishraAnusha Mishra   7 May 2017 2:53 PM GMT

आदिवासी महिलाओं पर पुलिस थाने में हो रहे अत्याचार को सामने लाने वाली डिप्टी जेलर वर्षा  डोंगरे निलंबितवर्षा डोंगरे

रायपुर। कुछ दिनों पहले रायपुर की केंद्रीय जेल में डिप्टी जेलर के पद पर तैनात वर्षा डोंगरे ने फेसबुक पर एक पोस्ट लिखी थी। इस पोस्ट में उन्होंने आदिवासी महिलाओं पर छत्तीसगढ़ के बस्तर में पुलिस द्वारा किए जा रहे अत्याचार के बारे में लिखा था। लेकिन बस्तर के सुरक्षाबल के खिलाफ फेसबुक पर टिप्पणी करना उन्हें भारी पड़ गया। वर्षा डोंगरे को छत्तीसगढ़ सरकार ने निलंबित कर दिया है।

वर्षा डोंगरे का पूरा मामला : छत्तीसगढ़ में पुलिस थाने बुलाकर आदिवासी लड़कियों पर इस तरह करती है ज़ुल्म, महिला डिप्टी जेलर ने किया खुलासा

उनके निलंबन की पुष्टि करते हुये पुलिस महानिदेशक जेल गिरधारी नायक ने कहा कि उनके खिलाफ कई गंभीर शिकायतें थीं। वर्षा डोंगरे राज्य सरकार के लिये पहले से ही मुश्किल का कारण बनी हुई थीं। छत्तीसगढ़ की बदनाम पीएससी के परीक्षाफल को लेकर उनकी याचिका पर छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को पहले ही फटकार लगाई थी और वर्षा डोंगरे के पक्ष में ऐतिहासिक फैसला दिया है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

हालांकि वर्षा इस मामले को फिर से सुप्रीम कोर्ट में ले कर जा चुकी हैं। लेकिन बस्तर के मामले में सोशल मीडिया पर सरकार, माओवादियों और सुरक्षाबल के जवानों के खिलाफ उनकी टिप्पणी देश भर में चर्चा का विषय बनी हुई थी। फेसबुक पर लिखी गई उनकी पोस्ट के बाद सरकार ने उन्हें नोटिस जारी किया था लेकिन वर्षा छुट्टी पर चली गई थीं और छुट्टी खत्म होने के बाद भी वे वापस नहीं लौटीं। इसके बाद शनिवार को उनके निलंबन की खबर सामने आई।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top