राजस्थान: सरकार ने जारी किया स्कूलों को फरमान, छात्रों को लेकर जाएं आध्यात्मिक मेले में

राजस्थान: सरकार ने जारी किया स्कूलों को फरमान, छात्रों को लेकर जाएं आध्यात्मिक मेले मेंवसुंधरा राजे।

लखनऊ। राजस्थान सरकार ने प्रदेश की सरकारी और निजी स्कूलों को जयपुर में चल रहे आध्यात्मिक मेले में जाने के लिए कहा है। वसुंधरा सरकार ने कहा कि शिक्षक जयपुर मेले में छात्रों को ले जाएं, ताकि वे लव जिहाद द्वारा किए गए षड़यंत्र के बारे में किताबें ले सकें।

गुरुवार से शुरू हुए इस मेले को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से सहबद्ध हिंदू आध्यात्म एवं सेवा फाउंडेशन द्वारा आयोजित किया जा रहा है। मेले में धर्म विरोधी किताबों को बांटने का मामला सामने आया है। मेले में बांटी गई किताबों में मुस्लिम विरोधी बातें लिखी गई है और हिंदू लड़कियों को लव जेहाद में फंसाने का आरोप लगाया गया है।

ये भी पढ़ें- पुणे की यूनिवर्सिटी का चौंकाने वाला फरमान, मांसाहारी भोजन खाने वाले छात्रों को नहीं मिलेगा गोल्ड मेडल

किताबों में बताया गया है कि किस तरह मुस्लिम युवा, हिंदू लड़कियों को अपने जाल में फंसाते हैं। बताया जा रहा है कि वीएचपी, बजंरग दल के कार्यकर्ता इस तरह की पुस्तकें बांट रहे थे और जिसमें लव जेहाद को लेकर कई बातें लिखी हुई है।

वहीं सरकार ने स्कूलों को इस मेले में जाने का आदेश दिया है। असिस्टेंट डिस्ट्रिक्ट एजुकेशन ऑफिसर (ADEO) दीपक शुक्ला का कहना है कि विद्यार्थियों को मेले में जाने के निर्देश शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने दिए थे और प्रदेश की सरकारी और निजी स्कूलों को इसमें जाने के लिए कहा गया है।

JNU परिसर में बिरयानी बनाने पर छात्रों पर जुर्माना, ABVP नेता बोले- बीफ बिरयानी थी

किताब में आरोप लगाया है कि जाति के आधार पर लव जिहाद के लिए पैसे दिए जाते हैं साथ ही लव जेहाद में फंसाने के प्रकार, जेहादी कैसे बिछाते हैं जाल, कैसे लव जिहाद से बचे आदि बिंदुओं के साथ मुस्लिम विरोधी बातें कही गई हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top