उपराष्ट्रपति चुनावः वेंकैया बनाम गोपालकृष्ण, वोटिंग आज, शाम तक परिणाम

उपराष्ट्रपति चुनावः वेंकैया बनाम गोपालकृष्ण, वोटिंग आज, शाम तक परिणामदेश के 15वें उपराष्ट्रपति के लिए आज मतदान होंगे

नई दिल्ली। देश के 15वें उपराष्ट्रपति के लिए आज यानी शनिवार को मतदान होंगे। वोटिंग के नतीजे भी आज शाम तक आ जाएंगे। उपराष्ट्रपति पद के लिए दो एनडीए और यूपीए के उम्मीदवार मैदान में हैं। एनडीए की ओर से बीजेपी के वरिष्ठ नेता वेंकैया नायडू हैं वहीं विपक्ष की ओर महात्मा गांधी के पोते गोपालकृष्ण गांधी उम्मीदवार हैं।

उपराष्ट्रपति का चुनाव सीक्रेट बैलेट के माध्यम से होता है। इसमें लोकसभा और राज्यसभा के सदस्य वोट करते हैं। अपनी पसंद को मार्क करने के लिए सांसद एक खास पेन का इस्तेमाल करते हैं। किसी दूसरे पेन से मार्क किये गए वोट को खारिज कर दिया जाता है। बैलेट पेपर में चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार का नाम होता है लेकिन इसपर किसी तरह का चुनाव चिह्न नहीं होता। इसके परिणाम आज ही सामने होंगे। वोटिंग दिन 10 बजे से शाम 5 बजे तक चलेगी।

ये भी पढ़ें:- जीएसटी से मेंथा कारोबारियों और किसानों की बल्ले-बल्ले, कीमतें 40 फीसदी तक बढ़ीं

क्या है वोटों का गणित?

उपराष्ट्रपति चुनाव में सिर्फ लोकसभा और राज्यसभा के सदस्य ही वोट करते हैं। ऐसे में एनडीए की जीत में कोई मुश्किल नहीं दिख रही है। अब राज्यसभा में भी बीजेपी के सबसे ज्यादा 58 सांसद हैं। वहीं देश की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस के 57 सांसद हैं। बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए के पास लोकसभा में 340 और राज्यसभा में 85 सांसद हैं। कुल होते हैं 425। पिछले उपराष्ट्रपति चुनाव में हामिद अंसारी को विपक्ष के उम्मीदवार जसवंत सिंह के मुकाबले 490 वोट मिले थे। जसवंत सिंह को 238 वोट मिले थे।

ये भी पढ़ें:- यूपी में खादी की ब्रैंडिंग के लिए बड़े शहरों में खुलेंगे खादी प्लाजा

जदयू पर होगी खास नजर

बिहार में सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड पर इस चुनाव के दौरान खास नजर रहेंगी। जदयू सांसदों और विधायकों ने राष्ट्रपति चुनाव के दौरान महागठबंधन में रहते हुए भी एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को वोट किया था। वहीं अब वे एनडीए का हिस्सा हैं और गोपालकृष्ण गांधी को समर्थन देने का ऐलान कर चुके हैं। इसके साथ ही राष्ट्रपति चुनाव के दौरान रामनाथ कोविंद का समर्थन करने वाली बीजू जनता दल भी गोपाल कृष्ण गांधी के लिए वोट करने की बात कह रही है।

ये भी पढ़ें:- टमाटर : कभी माटी मोल तो कभी 100 रुपए किलो, क्यों पहुंचती हैं कीमतें ?

अगर आप यूपी में सांस लेते हैं तो ये ख़बर आपके लिए है

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top