बॉलीवुड के मोस्ट हैंडसम हीरो विनोद खन्ना ने विलेन के रूप में की थी फिल्मों में एंट्री 

बॉलीवुड के मोस्ट हैंडसम हीरो विनोद खन्ना ने विलेन के रूप में की थी फिल्मों  में एंट्री फिल्म मेरा गाँव मेरा देश का एक सीन

लखनऊ। नोद खन्‍ना का जन्‍म 6 अक्‍टूबर, 1946 में पाकिस्‍तान के पेशावर में हुआ था। फिल्‍मों में एक विलेन के रूप में करियर शुरू करने वाले विनोद खन्ना ने अपने करियर में लगभग 150 से ज्‍यादा फिल्‍में की। तीखे नक्श और परफेक्ट बॉडी वाले विनोद खन्ना को लोग सबसे खूबसूरत या मोस्ट हैंडसम बताते हैं।

रोमांटिक हीरो वाली शक्ल होने के बावजूद विनोद खन्ना ने बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत विलेन के रूप में की थी। उन्होंने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत 1968 में फिल्म मन का मीत से की थी। उस वक्त उनकी उम्र सिर्फ 22 साल की थी।

पिता ने कहा था कि दो साल तक कुछ न कर पाए तो बिजनेस जॉइन कर लेना

एक इंटरव्यू में विनोद ने बताया था कि एक पार्टी के दौरान उनकी मुलाकात सुनील दत्त से हुई थी। सुनील एक फिल्म के लिए अपने भाई के किरदार के लिए किसी नए एक्टर की तलाश में थे। उन्होंने विनोद खन्ना को वो रोल ऑफर किया लेकिन जब ये बात उनके पिता को पता चली तो वह नहीं माने। हालांकि, विनोद की मां ने उनके पिता को इसके लिए राजी कर लिया और दो साल का वक्त दिया। पिता ने कहा कि दो साल तक कुछ ना कर पाए तो फैमिली बिजनेस ज्वाइन कर लेना। फिल्म में उनका किरदार निगेटिव था।

ये भी पढ़ें- पेशावर में अपना पुश्तैनी घर देखना चाहते थे विनोद खन्ना पर ख्वाहिश पूरी नहीं हो सकी

इसके बाद उनकी दूसरी फिल्में पूरब और पश्चिम (1970), सच्चा झूठा (1970) व मेरा गाँव मेरा देश (1971) जैसी फिल्में आई। मेरा गाँव मेरा देश एक ऐसी फिल्म थी जिसमें लीड रोल में तो धर्मेंद्र थे लेकिन फिल्म में विनोद खन्ना का डाकू वाला किरदार इतना हिट हुआ कि उसके बाद बॉलीवुड में डकैत पर फिल्में बनने का सिलसिला शुरू हो गया। 1975 में आई फिल्म शोले और डाकू गब्बर सिंह का किरदार इसी की मिसाल थी।

मनोरंजन से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

1977 में आई फिल्म परवरिश से वे लाइमलाइट में आए, इस फिल्म में उनके साथ अमिताभ बच्चन थे। इसके बाद अमर अकबर एंथोनी भी इसी साल रिलीज हुई थी। 1971 से 1982 में विनोद खन्ना ने कुल 47 मल्टी स्टारर फिल्मों में काम किया। इसमें एक और एक ग्यारह, हेरा फेरी, खून पसीना, अमर अकबर एंथोनी, ज़मीर, परवरिश और मुकद्दर का सिकंदर जैसी फिल्में शामिल थीं।

विनोद खन्ना ने अमिताभ के साथ भी कई फिल्में की थीं। बताते हैं कि कई फिल्मों में अपने किरदार की वजह से वह अमिताभ बच्चन पर भी भारी पड़ जाते थे। अमिताभ के साथ उन्होंने अमर अकबर एंथोनी व मुकद्दर का सिकंदर जैसी फिल्मों में काम किया।

कहा जाता है कि फिल्म कुर्बानी में इनके किरदार को पहले अमिताभ बच्चन को ऑफर किया गया था लेकिन अमिताभ के मना करने के बाद विनोद खन्ना ने यह फिल्म की और फिल्म एक हिट म्यूजिकल ड्रामा और उस साल की सबसे कमाऊ फिल्म थी।

ये भी पढ़ें- जन्मदिन पर विशेष : विनोद खन्ना के बारे में वो सबकुछ जो आप जानना चाहते हैं

Share it
Share it
Share it
Top