इंडोनेशिया: बाली द्वीप में ज्वालामुखी के सक्रिय होने पर उड़ान रद्द

इंडोनेशिया: बाली द्वीप में ज्वालामुखी के सक्रिय होने पर उड़ान रद्दप्रतीकात्मक तस्वीर।

नई दिल्ली। इंडोनेशिया की आपदा निवारण एजेंसी ने बाली द्वीप के माउंट अगुंग ज्वालामुखी के फिर से सक्रिय होने के बाद आज अधिकतम स्तर चार के लिए सतर्कता जारी की। साथ ही ज्वालामुखी के आसपास आठ से दस किलोमीटर की परिधि में रहने वाले निवासियों को तुरंत अपने घर खाली करने की चेतावनी भी जारी की गयी है। ऐसे में 5 हजार से ज्यादा यात्री एयरपोर्ट पर फंस गए हैं। वहीं ज्वालामुखी के आस-पास रहने वाले 24 हजार लोगों को दूसरी जगह शिफ्ट किया जा रहा है। जेट एयरवेज की ओर से डेनपासर एयरपोर्ट से सिंगापुर जा रही फ्लाइट को कैंसिल करने का फैसला लिया गया है।

एजेंसी की ओर से कहा गया है कि ज्वालामुखी पर्वत की चोटी से 12 किलोमीटर दूर तक राख हवा में उठने और कभी-कभी कमजोर विस्फोटों की आवाज को सुना जा सकता है। रात में लपटें दिखाई देती हैं जो इंगित करता है कि संभावित विस्फोट किसी भी समय हो सकता है।

माउंट आगुंग ज्वालामुखी से राख हवा में चार हज़ार मीटर ऊपर उठने के बाद विमान कंपनियों को भी 'रेड वॉर्निंग' जारी की गई है। इस सप्ताह इंडोनेशिया के किसी द्वीप पर यह दूसरी घटना है जब ज्वालामुखी से राख निकली है और हवाई उड़ानों में बाधा आई है। रेड वॉर्निंग जारी किए जाने का मतलब होता है कि ज्वालामुखी में राख के साथ विस्फ़ोट होने की आशंका है। बता दें बाली एक प्रमुख पर्यटन स्थल है। हालांकि, बाली के आकर्षण के केंद्र कुटा और सेमिनयाक जैसे इलाके ज्वालामुखी से तकरीबन 70 किलोमीटर दूर हैं।

Share it
Top