भारत में राजनीति से लेकर कारोबार तक वंशवाद : राहुल गांधी

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   12 Sep 2017 6:07 PM GMT

भारत में राजनीति से लेकर कारोबार तक वंशवाद  : राहुल गांधीकांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी।

वॉशिंगटन (भाषा)। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा कि भारत में राजनीति से लेकर कारोबार तक वंशवाद एक सामान्य चीज है और खानदान से ज्यादा अहम किसी शख्स की काबिलियत होती है।

अमेरिका में दिए गए राहुल के इस बयान ने भारत में विवाद पैदा कर दिया। भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल को एक नाकाम वंशज और नाकाम राजनेता करार दिया।

यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया, बर्कले में अपने संबोधन में राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए उन पर बांटने की राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने यह भी कहा कि मोदी जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद के लिए जगह पैदा कर रहे हैं और अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर रहे हैं। छात्रों के एक सवाल का जवाब देते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि यदि पार्टी बड़ी जिम्मेदारी स्वीकार करने को कहती है तो वह इसके लिए पूरी तरह तैयार हैं।

एक अन्य सवाल के जवाब में राहुल ने भारत में वंशवाद के मुद्दे पर कहा, भारत में ज्यादातर पार्टियों के साथ यह समस्या है........अखिलेश यादव भी वंशवादी हैं, (द्रमुक में एम करुणानिधि के बेटे) स्टालिन भी वंशवादी हैं, भाजपा के (प्रेम कुमार) धूमल के बेटे भी वंशवादी हैं, यहां तक कि अभिषेक बच्चन भी वंशवादी हैं, भारत ऐसे ही चलता है, तो मेरे पीछे नहीं पड़ें क्योंकि भारत में ऐसे ही चलता है। अंबानी परिवार व्यापार चला रहा है, इंफोसिस में भी ऐसा चल रहा है तो भारत में ऐसा होता है हालांकि, राहुल ने यह भी कहा कि कांग्रेस में बड़ी संख्या ऐसे लोगों की है जो किसी वंशवादी परिवार से नहीं हैं।

देश से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उन्होंने कहा, और मैं हर राज्य में ऐसे नेताओं के नाम ले सकता हूं, ऐसे लोग भी हैं जिनके पिता, दादी मां या परदादा राजनीति में थे, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा, असल सवाल है कि क्या व्यक्ति में वाकई काबिलियत है और क्या वह संवेदनशील है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top