रहें सतर्क... उत्तरी राज्यों में आंधी तूफान की चेतावनी, हाई अलर्ट पर हरियाणा और पंजाब 

रहें सतर्क... उत्तरी राज्यों में आंधी तूफान की चेतावनी, हाई अलर्ट पर हरियाणा और पंजाब फोटो: एजेंसी

उत्तर प्रदेश और राजस्थान में आंधी तूफान और भारी बारिश से अब तक 110 से ज्यादा लोगों की मौतों के बाद मौसम विभाग ने सोमवार को देश के उत्तरी राज्यों में आंधी तूफान आने की चेतावनी जारी की है। जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, चंडीगढ़, नई दिल्ली में आंधी तूफान की चेतावनी के साथ पंजाब और हरियाणा राज्य हाई अलर्ट पर हैं।

हरियाणा में स्कूलों को दो दिन (सोमवार और मंगलवार) तक के लिए बंद कर दिया गया है। चंडीगढ़ के कुछ निजी स्कूलों को भी दो दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। ऐसे में इन राज्यों में भारी बारिश के साथ तेज तूफान का खतरा है, जो खेतों में लगी फसल के लिए तबाही ला सकती है।

विभाग की ओर से जारी एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, इन राज्यों में तेज हवाओं के साथ आंधी आने की चेतावनी जारी की गई है। इसकी वजह से हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली के कुछ स्थानों पर भी धूल भरी आंधी आने की आशंका है। इसका असर पूर्वी और पूर्वोत्तर राज्यों में भी देखने को मिलेगा।

उत्तर प्रदेश के आगरा में प्रशासन ने तूफान को लेकर कल कक्षा एक से आठ तक के स्कूलों में अवकाश कर दिया है साथ ही सभी अस्पतालों को भी अलर्ट रहने के निर्देश दिए है। बतादें इससे पहले दो मई को आए तूफान में ल्रगभग 50 लोगों की मौत हो गई थी।

इतना ही नहीं, मौसम विभाग ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, उड़ीसा, पूर्वोत्तर के कुछ इलाकों, केरल और अंदरूनी कर्नाटक के कुछ इलाकों में तेज हवाओं के साथ आंधी-तूफान की आशंका जताई है। जबकि राजस्थान में धूल भरी आंधी और असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा में तेज बारिश का अनुमान व्यक्त किया गया है।

ये भी पढ़ें- आंधी-तूफान ने मचाई भयंकर तबाही, तस्वीरों में देखें मंजर  

पंजाब-हरियाणा

चंडीगढ़ और आसपास के इलाकों में सोमवार सुबह झमामझ बारिश हुई है। मौसम विभाग ने हरियाणा और पंजाब में सोमवार से बुधवार तक तूफान और इसके साथ ही तेज हवाएं चलने और बारिश की चेतावनी जारी की है। ऐसे में इन दोनों राज्यों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। यहां हरियाणा प्रशासन ने स्कूलों को दो दिन तक के लिए बंद कर दिया गया है। पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ के अधिकांश इलाकों में रविवार को अधिकतम तापमान 31.5 से 38.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ और कुछ स्थानों पर बारिश हुई।

हिमाचल प्रदेश- उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश के ऊंचाई वाले इलाकों में सोमवार को हल्की बर्फबारी हुई, जबकि निचले इलाकों में बारिश हुई है। मौसम विभाग ने बुधवार तक राज्य में ओलावृष्टि और तेज हवाओं के साथ और अधिक बर्फबारी और बारिश की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि शिमला में हल्की बारिश हुई जबकि ऊंचाई वाले कुल्लू, किन्नौर और लाहौल-स्पीति जिलों में बर्फबारी हुई। चंबा में 14 मिलीमीटर बारिश हुई जो राज्य में सबसे अधिक है। पर्यटन स्थली मनाली में 7.2 मिलीमीटर, धर्मशाला में 6.2 मिलीमीटर और डलहौजी में 10 मिलीमीटर बारिश हुई। लाहौल-स्पीति के मुख्यालय केलांग में तीन सेंटीमीटर बर्फबारी हुई। यह शून्य से 2.9 डिग्री कम न्यूनतम तापमान के साथ सबसे ठंडा रहा। इसके अलावा मौसम विभाग ने उत्तराखंड में आंधी तूफान की चेतावनी जारी की है।

ये भी पढ़ें- चौंकाने वाली रिपोर्ट : किसानों के कर्ज में डूबने की वजह सिर्फ खेती नहीं

मध्य प्रदेश-राजस्थान

मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में धूल भरी आंधी चलने की चेतावनी जारी की है। राज्य में सोमवार की सुबह गर्म रही और धूप की चुभन ने बेचैन कर दिया। मगर बीते 24 घंटों के दौरान राज्य के कई हिस्सों में गरज चमक के साथ बौछारें पड़ी, वहीं तेज हवाएं भी चली। मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी राजस्थान से मध्य प्रदेश से होकर गुजर रही द्रोणिका (ट्रफ) के चलते राज्य के मौसम में बदलाव आया है। मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में राज्य के कई हिस्सों में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने और तेज धूल भरी आंधी चलने की चेतावनी जारी की है। वहीं राजस्थान का जैसलमेर सोमवार सुबह धूल भरी आंधी के साथ तूफान की चपेट में नजर आया। मौसम विभाग ने राजस्थान के कई हिस्सों में आंधी तूफान की चेतावनी जारी की है।

यूपी: पूर्वांचल में तेज धूप, पश्चिम में आंधी-तूफान की संभावना

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ और आसपास के जिलों में सोमवार सुबह से ही तेज धूप निकली हुई है। मौसम विभाग के अनुसार तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस तक का इजाफा होने की संभावना है। इस बीच पश्चिमी उप्र के लगभग दर्जन भर जिलों में अगले 24 घंटों के दौरान तेज आंधी और तूफान आने की संभावना है।

उप्र मौसम विभाग के निदेशक जे. पी. गुप्ता के अनुसार, दिन में तेज धूप निकलेगी। अगले 24 घंटों के दौरान पश्चिमी उप्र के कई जिलों में मौसम खराब होने की आशंका है। दिन में 20 से 25 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। आद्र्रता का स्तर भी 60 फीसदी तक दर्ज किया जाएगा।

इस बीच मौसम विभाग के मुताबिक, उप्र में रामपुर, मुरादाबाद, गाजियाबाद, बागपत, मेरठ, बिजनौर, मुजफ्फरनगर, सहारानपुर, बरेली, बदायू, बुलंदशहर, गौतमबुद्ध नगर, मथुरा और हाथरस में अगले 24 घंटों के दौरान धूल भरी आंधी आने का अनुमान है। इसे लेकर संबंधित जिलाधिकारियों को निर्देश जारी कर अलर्ट रहने को कहा गया है।

इन राज्यों में भी चेतावनी

इसके मद्देनजर मौसम विभाग ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, उड़ीसा, पूर्वोत्तर के कुछ इलाकों, केरल और अंदरूनी कर्नाटक के कुछ इलाकों में तेज हवाओं के साथ आंधी-तूफान की आशंका जताई है। जबकि राजस्थान समेत असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा में धूल भरी आंधी और तेज बारिश का अनुमान व्यक्त किया गया है।

मौसम विभाग ने विदर्भ के कुछ इलाकों में गर्मी आज भी अधिक रहने की आशंका जताई है लेकिन उत्तर भारत के लगभग सभी इलाकों में तापमान की गिरावट के मद्देनजर गर्मी का असर कम रहने की संभावना व्यक्त की है।

विभाग ने मौजूदा पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर और पूर्वोत्तर भारत के तमाम इलाकों में आंधी और तेज हवाओं का दौर जारी रहने के बावजूद राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, भीतरी महाराष्ट्र के सभी इलाकों और तेलंगाना, रायलसीमा तथा भीतरी उड़ीसा के कुछ इलाकों में अगले तीन दिनों तक अधिकतम तापमान 40 से 44 डिग्री सेल्सियस तक रहने का अनुमान व्यक्त किया है।

(एजेंसी)

ये भी पढ़ें- धान और गेंहू के डंठल से तैयार 100% एथनॉल पर चलेंगे वाहन, सरकार ने दी मंजूरी

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्रियों को सुप्रीम कोर्ट का झटका, खाली करने होंगे सरकारी घर

Tags:    thunderstorm 
Share it
Top