एरोमा मिशन का वेब पोर्टल लॉन्च, अब व्यापार करना होगा और आसान

एरोमा मिशन का वेब पोर्टल लॉन्च, अब व्यापार करना होगा और आसान

सुगंध उद्योग को और सुगम बनाने के लिए सीएसआईआर ने एरोमा मिशन की एक वेबसाइट लॉन्च जहां किसान, व्यापारी बड़ी आसानी से अपना पंजीकरण तो कर लेंगे साथ ही मिशन की गतिविधियों की जानकारी भी उन्हें मिलती रहेगी।

बैंगलोर में तीन से पांच अगस्त के बीच एक कार्यशाला का आयोजन हुआ। ऐसंशियल ऑयल एसोसिऐशन ऑफ इंडिया द्वारा आयोजित इंटरनेशल कांग्रेस एंड एक्सपो 2018 में वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) की विभिन्न प्रयोगशालाओं (सीमैप, आईएचबीटी, आईआईआईएम, नीस्ट और युरडिप) ने भाग लिया। इन प्रयोगशालाओं ने भारतीय सुगंधित तेल उद्योग के 800 से अधिक प्रतिनिधियों को सीएसआईआर एरोमा मिशन की गतिविधियों और पिछले डेढ़ साल में किये गए कार्यों के बारे में बताया गया।

प्रोफेसर अनिल के त्रिपाठी, मिशन निदेशक ने एरोमा मिशन में सभी पांच प्रयोगशालाओं द्वारा किए गये कार्यों के बारे मेंं सबको अवगत कराया। उन्होंने मिशन की प्रगति के बारे में बताया और भारतीय सुगंधित तेल उद्योग से सहयोग की आवश्यकता पर जोर दिया ताकि किसानों को आर्थिक लाभ मिल सके और देश में सुगंधित तेलों के आयात का बोझ कम किया जा सके। उन्होंने देश के उपयुक्त कृषि-जलवायु क्षेत्रों में लैवेंडर, जिरेनियम तथा अन्य मूल्यवान सगंधित फसलों की खेती को बढ़ावा देने के बारे में भी बताया। कांग्रेस के दौरान, डॉ. राम विश्वकर्मा, डॉ संजय कुमार, डॉ एस के बारिक और डॉ किशोर श्रीनिवासन ने मिशन के अंतर्गत कार्य कर रही अपनी-अपनी प्रयोगशालाओं के योगदान की चर्चा की।

ये भी पढ़ें-सूखे इलाकों में पैसे कमाना है तो करें लेमनग्रास की खेती, खेती और बिक्री की पूरी जानकारी


आईआईटीआर के पूर्व निदेशक डॉ पी के सेठ ने सुगंध उद्योग के व्यापारी, किसान व वैज्ञानिकों की उपस्थिति में एरोमा मिशन का वेब पोर्टल (http://aromamission.cimap.res.in) भी लॉन्च किया। इस वेबसाइट के द्वारा विभिन्न हितधारकों को एरोमा मिशन की विभिन्न गतिविधियों से जोड़ा जा सकेगा। सीमैप में आईसीटी के हेड, ई. मनोज सेमवाल ने बताया कि यह वेब पोर्टल एक निरंतर अपडेटड वेबसाइट है जो एरोमा मिशन की विभिन्न गतिविधियों और प्रगति को आम लोगों तक पहुंचाने का कार्य करेगा। इसके द्वारा एरोमा मिशन के तहत लाभार्थियों, खरीदारों और फैब्रिकेटरों का पंजीकरण भी किया जा सकेगा। इस पोर्टल में मिशन निदेशक के साथ-साथ अन्य सहभागी प्रयोगशालाओं के निदेशकों के साथ भी संपर्क किया जा सकेगा। वेब पोर्टल में पंजीकृत लोगों को ई-मेल तथा एसएमएस से अपने आप सूचना दी जाएगी।

एक्सपो में सगंध फसलों, सुगंधित तेलों और मूल्यवर्धन से भारतीय किसानों, उद्यमियों और उद्योगों की उत्पादकता बढ़ाने तथा लाभ प्रदान करने में उत्कृष्ट योगदान के लिए टीम आईएचबीटी, टीम आईआईआईएम और टीम सीमैप को अल्ट्रा इंटनेशनल एरोमा टीम अवार्ड दिया गया। इसके अलाावा प्रेम प्रकाश सिंह, सुमित महेश्वरी, विनीत कुमार और रणजीत किशोर बर्मन को अल्ट्रा इंटरनेशनल एरोमा एवॉर्ड फोर प्रोग्रेसिव फार्मर्स का पुरस्कार दिया गया।

ये भी पढ़ें-सतावर , एलोवेरा , तुलसी और मेंथा खरीदने वाली कम्पनियों और कारोबारियों के नाम और नंबर

अंतर्राष्ट्रीय कांग्रेस में सीमैप के मुख्य वैज्ञानिक डॉ आलोक कालरा को भारतीय सुगंधित तेल के अनुसंधान के क्षेत्र में उनके अद्वितीय योगदान के लिए जुगल किशोर मेमोरियल अवार्ड से सम्मानित किया गया। कांग्रेस के दौरान पोस्टर प्रस्तुति के लिए डॉ रमेश श्रीवास्तव को प्रथम पुरस्कार दिया गया।


Share it
Share it
Share it
Top