देश के लाखों श्रमिकों को बजट 2021-22 से क्या मिला? महिला कामगारों के लिए भी बड़ा ऐलान

केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार एक फरवरी को 2021-22 का बजट पेश किया। बजट भाषण में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने हर वर्ग के श्रमिकों के लिए मिनिमम वेज कोड लागू करने की घोषणा की है।

minimum wages code, न्यूनतम मजदूरी कोड, बजट की बड़ी घोषणा, बजट में मिडिल क्लास को क्या मिला, Union Budget 2021 in Hindi, Budget in Hindi, Union Budget 2021 India Live in Hindi, budget news in Hindiबजट 2021-22 से मजदूरों को क्या मिला?

देश का आम बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण कहा है कि समाजिक सुरक्षा का दायरा स्वतंत्र रूप से ठेके पर काम करने वाले श्रमिकों के लिए बढ़ाया जायेगा। बजट पेश करने के दौरान उन्होंने कहा कि गिग कामगार, भवन और निर्माण से जुड़े कामगारों के बारे में सरकार जानकारी जुटाएगी जिसके लिए एक पोर्टल की भी स्थापना की जाएगी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में कहा कि स्वास्थ्य, कर्ज, खाना आदि जानकारियाँ, असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के बारे में जुटाई जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि पहली बार सामाजिक सुरक्षा (केंद्रीय) नियम, 2020 संहिता में सामाजिक सुरक्षा का प्रावधान किया गया है, इसमें गिग और प्लेटफ़ॉर्म वर्कर्स शामिल हैं।

गिग और प्लेटफॉर्म श्रमिक वे होते हैं जो ई-कॉर्मस से जुड़े व्यवसायों में काम करते हैं। ये अस्थायी होते हैं और इन्हें प्रतिदिन के हिसाब से काम का भुगतान किया जाता है। ज्यादातर जगहों पर ऐसे श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा का फायदा नहीं मिलता।

ऐसे श्रमिकों को भविष्य निधि, स्वास्थ्य और समूह बीमा, पेंशन जैसी सुविधाएं भी प्रदान की जाएंगी। इस पोर्टल के जरिये श्रमिक एक क्लिक पर सारी जानकारी हासिल कर सकेंगे। इससे देश के लाखों कामगारों को फायदा मिलेगा।

देश में असंठित मजदूरों की संख्या लगभग 40 करोड़ है।

श्रमिकों के लिए मिनिमम वेज कोड लागू करने की घोषणा

वित्त मंत्री ने हर वर्ग के श्रमिकों के लिए मिनिमम वेज कोड लागू करने की घोषणा की है। यह प्रवासी और असंगठित श्रमिकों के लिए होगा।

यह भी पढ़ें- कृषि बजट: एक लाख करोड़ के एग्री इंफ्रा फंड के लिए पेट्रोल डीज़ल पर सेस, उपभोक्ताओं पर असर नहीं

कोरोना को रोकने के लिए जब देश में लॉकडाउन लगाया तब कामकाज एक दम ठप हो गया है। देश के लाखों मजदूरों पर इसका असर पड़ा था। इसे ही देखते हुए मिनिमम वेज कोड लागू करने की घोषणा की गई है।

मिनिमम वेज कोड और पोर्टल की जानकारी। (PIB से साभार)

मिनिमम वेज कोड के तहत अब हर श्रेणी के श्रमिकों को इसका लाभ मिलेगा। उन्हें एक तय समय पर निश्चित रकम मिल सकेगी। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि श्रमिकों के लिए मिनिमम वेज कोड लागू किया जाएगा। इसमें सभी वर्गों के मजदूरों को कवर किया जाएगा।

इसके साथ-साथ उन्होंने महिला कामगारों को लेकर भी अहम ऐलान किए हैं। सीतारमण ने अपने भाषण में कहा महिलाएं हर कैटेगरी के काम कर सकेंगी और उन्हें नाइट शिफ्ट करने की भी इजाजत होगी। ये सब नए लेबर कोड के जरिए लागू किए जाने की योजना है।

Updating...

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.