चाय के इन फायदों के बारे में क्या जानते हैं आप ‍?

चाय के इन फायदों के बारे में क्या जानते हैं आप ‍?भारतीयों का पसंदीदा पेय चाय।

चाय ज्यादातर भारतीयों का पंसदीदा पेय है। सर्दी के मौसम में ये आपके दिन को सक्रिय बनाती है। 3000 से अधिक किस्मों के साथ एक कप चाय दुनिया भर में पानी के बाद सबसे अधिक पिया जाने वाला पेय है। भारतीय चाय के प्रति अपने लगाव के लिए जाने जाते हैं, और सर्दियों में यह कई लोगों के लिए एक आदत बन जाती है। चाय के कई लाभ हैं। 'हेल्थियंस' की वरिष्ठ पोषण विशेषज्ञ व स्वास्थ्य सलाहकार डॉक्टर सौम्या सताक्षी ने चाय के ये लाभ बताए हैं :

ऑक्सीडेशन स्तर के आधार पर चाय मुख्य रूप से पांच प्रकार की होती हैं। साधारण बोलचाल में, चाय जितनी कम ऑक्सीडाइज्ड होगी, स्वाद और सुगंध में उतनी ही सौम्य और बेहतर होगी।

सफेद चाय :

यह चाय का सबसे कम प्रोसेस किया जाने वाला स्वरूप है, जो कि शानदार स्वाद और खुशबू देता है। यह एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होती है और यह कोलेस्ट्रोल एवं ब्लड प्रेशर को कम करने में मददगार है। इसमें कैफीन की मात्रा कम होने के चलते, जो लोग अपने कैफीन सेवन पर ध्यान देते हैं उनके लिए यह सर्वश्रेष्ठ विकल्प है।

ये भी पढ़ें-यहां दीदी के ठेले पर मिलती है 20 तरह की चाय और मैगी, साथ में वाईफाई फ्री

जो लोग अपना वजन घटाना चाहते हैं, वे एक चम्मच सफेद पत्ती, आधा चम्मच अदरक पाउडर और नींबू की कुछ बूंदें मिलाकर 15 दिनों इसका सेवन करें तो आशाजनक परिणाम देखने को मिलेंगे। फिनॉल की अधिक मात्रा के चलते, यह एलेस्टिन और कोलेजन को मजबूती प्रदान करता है, जिसके चलते यह झुर्रियों को रोकने और मुंहासे ठीक करने में भी मदद करता है। इसका रोजाना तीन-चार कप सेवन किया जा सकता है।

ग्रीन टी :

एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण यह कोलेस्ट्रोल को कम करने और स्वस्थ कोशिकाओं तेजी से वृद्धि करने में मदद साबित होती है।

इसमें चीनी मिलाकर इसका प्रयोग चेहरे की मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए फेस स्क्रब के रूप में भी कर सकते हैं। यह एक बेहतरीन टोनर है, जो कि बंद पड़े रोम छिद्रों को खोलने में मदद करती है। आंखों के आसपास सूजन को कम करने के लिए भी यह एक अच्छा विकल्प है। इसे बालों को साफ करने और उन्हें स्वस्थ रखने में भी प्रयोग किया जा सकता है।

एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर ग्रीन टी।

ग्रीन टी से अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए, इसमें दूध, चीनी, क्रीम और यहां तक कि शहद भी न मिलाएं। उबलते पानी में एक चम्मच ताजी पत्तियों को मिलाएं और 2 से 3 मिनट रखने के बाद ही इसे पिएं। इसका रोजाना दो-तीन कप सेवन किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें-नहीं जानते होंगे उबली हुई चाय की पत्ती के ये फायदे

ब्लैक टी :

यह चाय हृदय रोग के खतरे को कम करती है और डायबिटीज के स्तर को घटाती है। यह तैलीय त्वचा वाले लोगों के लिए आदर्श है, ब्लैक टी रोम छिद्रों में कसावट लाने, त्वचा में ताजगी लाने और आपके चेहरे पर एक प्राकृतिक एवं उज्ज्वल चमक लाने में मदद करती है।

यह चाय हृदय रोग के खतरे को कम करती है।

रूइबोस/हर्बल टी :

हर्बल टी में कैफीन नहीं होता और इसमें टैनिन कम होता है। इसमें कैंसर से लड़ने के गुण होते हैं और यह त्वचा की एलर्जी में भी लाभकारी होती है

एक प्राकृतिक सौम्य क्लीनर के रूप में इसका प्रयोग करने के लिए पहले चाय को उबाल कर ठंडा कर लें और फिर चेहरे पर लगाएं। 10 मिनट तक सूखने दें और फिर धो लें। यह चाय आपकी त्वचा पर झाइयां, दाग धब्बे, मुंहासे, सूजन को कम करती है।

ओलोंग टी :

ओलोंग टी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है। यह कैल्शियम, मैग्नीज, पोटेशियम, कॉपर और सेलेसियम का भी प्रमुख स्रोत है। यह वजन को नियंत्रित करने और दांतों को खराब होने से रोकने में मददगार है।

यह त्वचा को स्वस्थ और रंग साफ रखती है। वे लोग जो एक्जिमा से पीड़ित हैं और चमकदार, त्वचा चाहते हैं, उन्हें दो से तीन कप ओलोंग टी पीने की सलाह दी जाती है। यह काले धब्बे और झुर्रियों को कम करती है। यह एक प्रभावकारी सनस्क्रीन और टोनर है।

ओलोंग टी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है।

ये भी पढ़ें- औषधीय गुणों से भरपूर चाय की चुस्कियां

ये भी पढ़ें-सावधान : कहीं आप चाय की जगह तेजाब तो नहीं पी रहें

Share it
Share it
Share it
Top