Top

2018 में शुरू हो सकता है तीसरा विश्व युद्ध: नास्त्रेदमस

2018 में शुरू हो सकता है तीसरा विश्व युद्ध: नास्त्रेदमसरे विश्व युद्ध की शुरुआत साल 2018 में हो जा

लखनऊ। द्वितीय विश्व युद्ध, 9-11, डायना की मौत, एडोल्फ हिटलर के उदय के बारे में बिल्कुल सटीक भविष्यवाणी करके गए 16वीं सदी के फ्रांस के विश्वविख्यात भविष्यवक्ता नास्त्रेदमस ने साल 2018 को लेकर भी भविष्यवाणी की हुई है। अपनी कविताओं के जरिए उस समय आने वाले विश्व का भविष्य लिखकर गए नास्त्रेदमस की कविताओं को एक बार फिर पढ़ा जा रहा है।

इन कविताओं में साल 2018 को लेकर एक चौंकाने वाली भविष्यवाणी सामने आई है, जोकि धीर-धीरे सत्य हो रही है। साल 2018 को लेकर कि गई उनकी भविष्यवाणी में लिखा है कि तीसरे विश्व युद्ध की शुरुआत साल 2018 में हो जाएगी और शांति से भरे साल 2025 की दुनिया देखने के लिए सिर्फ कुछ लोग ही जिंदा रह जाएंगे।नास्त्रेदमस के मुताबिक, 2018 में मृत आत्माएं अपनी कब्र से बाहर आ जाएंगी और दुनिया में काफी उथल-पुथल मचेगी। नास्त्रेदमस ने 2018 में कई प्राकृतिक आपदाओं की भविष्यवाणी की है।

ये भी पढ़ें- राजस्थान: किन्नर गंगा कुमारी बना कांस्टेबल, छह सप्ताह के अंदर मिलेगा नियुक्ति पत्र

नास्त्रेदमस ने अपनी किताब 'द प्रोफेसीज' में तीसरे विश्व युद्ध की भविष्यवाणी की है। नास्त्रेदमस ने वैश्विक व्यवस्था में एक बड़े फेरदबदल की भविष्यवाणी की है। नास्त्रेदमस ने भविष्यवाणी के मुताबिक, तीसरा विश्व युद्ध केवल दो और दो से ज्यादा देशों में नहीं बल्कि दो दिशाओं के बीच का होगा यानी पूरब और पश्चिम के बीच। ऐसे में अनुमान लगाया जा रहा है कि अमेरिका और कोरिया में युद्ध छिड़ सकता है। क्योंकि जिस तरह से दोनों एक दूसरे को तबाह करने की धमकी दे रहे हैं वो किसी से छुपा नहीं हैं, ऊपर से दोनों के विपरित दिशाओं में होने के संकेत ने वैज्ञानिकों को और चिंता में डाल दिया है।

ये भी पढ़ें- बालदिवस/डायबिटीज डे विशेष: इन लक्षणों से पहचानिए कि कहीं आपके बच्चे को डायबिटीज तो नहीं

नास्त्रेदमस भविष्यवाणी के मुताबिक, आदमी आदमी को मार रहे होंगे और युद्ध के अंत में कुछ लोग ही शांति का आनंद उठाने के लिए बचेंगे। आसमान से उड़ती हुई आग की गेंदे गिरेंगी और लोग असहाय हो जाएंगे। उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के लगातार न्यूक्लियर मिसाइल्स परीक्षणों से लगातार यह डर बना ही हुआ है।

खेती और रोजमर्रा की जिंदगी में काम आने वाली मशीनों और जुगाड़ के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.