मुल्क-मजहब की दीवारें तोड़ कर सेहत का साथी बना योग : नकवी

मुल्क-मजहब की दीवारें तोड़ कर सेहत का साथी बना योग : नकवीमंत्री मुख्तार अब्बास नकवी

नई दिल्ली (भाषा)। केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज कहा कि योग सेहत के खजाने की गोल्डन चाभी है जो मुल्क-मजहब की दीवारें तोड़ कर सेहत का साथी बन गया है।

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर नोएडा के सेंट्रल पार्क में आयोजित कार्यक्रम में नकवी ने हिस्सा लिया। नकवी ने कहा कि योग दिवस के दिन भारत की हजारों साल पुरानी विरासत दुनिया में अंतरराष्ट्रीय सेहत समागमै में बदल गई है।

नकवी ने कहा कि योग को आज दुनिया भर में पहचान और महत्व मिल रहा है। योग पूरी दुनिया में लोगों के सेहत का संसाधन साबित हो रहा है। योग को विश्व के जन जीवन का हिस्सा बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का शुक्रिया अदा करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भारत को एक विकसित देश बनाना ही नहीं बल्कि सेहतमंद और साफ-सुथरा आदर्श देश बनाना है।

ये भी पढ़ें : InternationalYogaDay 2017 : बाबा रामदेव संग अमित शाह ने किया योग, बना विश्व रिकॉर्ड

उन्होंने कहा कि समस्त विश्व में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को जोश-जज्बे के साथ मनाया जाना वैश्विक स्तर पर भारत की बढ़ती हुई साख का एक और प्रमाण है। नकवी ने कहा कि वह स्वयं पिछले कई वर्षों से योग करते आ रहे हैं। योग सेहत के खजाने की गोल्डन चाभी है और अच्छी सेहत ही इंसान की सबसे बड़ी दौलत है। योग केवल व्यायाम नहीं है बल्कि यह सेहत विज्ञान भी है।

ये भी पढ़ें : तस्वीरों में देखिए #InternationalYogaDay पर पीएम नरेंद्र मोदी का अंदाज़

योग तन को मजबूती और मन को शांति प्रदान करता है। योग की मदद से जीवन के विभिन्न पहलुओं में सामंजस्य बैठाया जा सकता है, योग अभ्यास शरीर एवं मन, विचार एवं कर्म, और मानव एवं प्रकृति के बीच सामंजस्य प्रदान करने में भी सफलता दिलाता है। ये सकारात्मक रुप से लोगों की जीवनशैली को बदलता है और सेहत के स्तर को बढाता है।

ये भी पढ़ें : International yoga day 2017 : योग दिवस पर बोले मोदी- योग के कारण पूरा विश्व भारत से जुड़ गया है

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रयासों से 11 दिसंबर, 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में 175 देशों ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का संकल्प सर्वसम्मति से अनुमोदित कर दिया। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के निर्णय से विश्व भर में भारत की प्रतिष्ठा बढ़ी है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिएयहांक्लिक करें।

Share it
Top