Top

धीरे-धीरे सुधारों का फल दिखने लगा है, इन पर टिकने की जरुरत: विरमानी

धीरे-धीरे सुधारों का फल दिखने लगा है, इन पर टिकने की जरुरत: विरमानीgaoconnection

नई दिल्ली (भाषा)। पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद विरमानी का मानना है कि जून, 2014 से नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा धीरे-धीरे किए जा रहे सुधारों का नतीजा दिखने लगा है और देश की वृद्धि दर को 8.5 प्रतिशत की पूरी क्षमता तक ले जाने के लिए इनको जारी रखा जाना चाहिए।

विरमानी ने कहा कि संभवत: 2015 की दूसरी छमाही में चीजें अधिक सकारात्मक हुई हैं। जून, 2014 से शुरु किए गए वृद्धि संबंधी सुधारों का अर्थव्यवस्था पर असर दिखने लगा है। अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर को 8.5 प्रतिशत की अपनी पूरी क्षमता पर ले जाने के लिए नीतिगत सुधार जारी रहने चाहिए। विरमानी ने उम्मीद जताई कि 2015-16 की तुलना में 2016-17 में करीब आधा फीसदी की अधिक वृद्धि दर हासिल करने के लिए कृषि-ग्रामीण तथा कारपोरेट क्षेत्रों में भी वृद्धि होनी चाहिए। 

उन्होंने भरोसा जताया कि राजकोषीय-मौद्रिक स्थिति में सुधार तथा सरकार द्वारा ढांचागत क्षेत्र को खर्च स्थानांतरित किए जाने से कारपोरेट वृद्धि रफ्तार पकड़ेगी। 2015-16 में भारत की वृद्धि दर 7.6 प्रतिशत रहने का अनुमान है। वित्त मंत्रालय का अनुमान है कि चालू वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 7.7 से 7.5 प्रतिशत के बीच रहेगी।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.