सेटेलाइट से होगी वृक्षों की निगरानी

जंगल की पैमाइश भी अब मोबाइल बता देगा। जीपीएस से एक पौधे से दूसरे पौधे की दूरी भी बता चल जाएगी

सेटेलाइट से होगी वृक्षों की निगरानी

कन्नौज। प्रदेश में अब सेटेलाइट से वृक्षों की निगरानी होगी। इससे फर्जीवाड़ा पर रोक लगेगी। वेबसाइट पर पूरा ब्योरा आनलाइन रहेगा। डीएफओ कन्नौज आरसी श्रीवास्तव बताते हैं, ''जमीन पर लगाए गए पौधों की फोटो वन विभाग की बेबसाइट पर लोड की जा रही है। जीपीएस की मदद से रीडिंग लेते रहेंगे। पौधे सेटेलाइट से कवर होंगे।'' डीएफओ आगे बताते हैं कि ''अब फर्जीवाड़ा नहीं हो सकेगा। पहले विभागों को दिया जाने वाला लक्ष्य जमीन पर नहीं दिखता था। पौधे कुछ लगते थे, बताए कुछ जाते थे। अब सभी की

निगरानी जीपीएस से हो सकेगी। सभी की फोटो अपलोड करनी होगी।'' उन्होंने बताया कि ''जो भी व्यक्ति पौधा लगवाएगा उसका नाम भी सूची में दर्ज होगा। साथ ही 15 डिजिट का क्रमांक भी दर्ज होगा। यह पूरे प्रदेष में लागू हो गया है। पहले एजेंसी और प्रधान आदि अधिक पौधे लगाने की रिपोर्ट दे देते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं हो सकेगा। एक-एक पौधे पर नजर रहेगी। कन्नौज में इसके लिए तीन मषीनें मिली हैं।''

डीएफओ कन्नोेज आरसी श्रीवास्तव का कहना है, ''जंगल की पैमाइश भी अब मोबाइल बता देगा। जीपीएस आटोमैटिक सिस्टम है। इससे एक पौधे से दूसरे पौधे की दूरी भी बता चल जाएगी। देहरादून वन सर्वेक्षण उत्तराखंड में यह लागू हो गया है। यूपी में भी शुरु हो गया है।''

विश्व पर्यावरण दिवस : पौधा लगवाकर कराते हैं होमवर्क, शादी और जन्मदिन पर उपहार में देते हैं पौधे



सात लाख पौधे रोपने को कसी कमर

डीएफओ का कहना है कि ''वर्श 2018-19 में सभी तरह के करीब सात लाख पौधे रोपे जाएंगे। इसमें विभाग की ओर से 2.08 लाख पौधे लगाए जाएंगे। पिछले साल 4.35 लाख के लक्ष्य के सापेक्ष 4.99 लाख पौधे लगे थे। जिले के आठो बीडीओ 3.50 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य मिला है, जिसमें 2.66 लाख लाभार्थियों का चयन कर लिया गया है।''

सूबे में 22 करोड़ पौधे दान से रोपे जाएंगे

जिला वनाधिकारी आरसी श्रीवास्तव कहते हैं कि 'एक व्यक्ति, एक वृक्ष' योजना के तहत 10 हजार लोगों से संकल्प पत्र भरवा लिए गए हैं। इसके तहत 48,150 पौधे रोपे जाएंगे। सरकार का मानना है कि उत्तर प्रदेष में 22 करोड़ की जनसंख्या है, अगर हर व्यक्ति एक-एक पौधा औसत लगाएगा तो 22 करोड़ पौधे सूबे में लग जाएंगे। इनकी फोटो भी वेबसाइट पर अपलोड होंगी। संकल्प पत्र भरने वाले लोग खुद अपने खर्चे पर पेड़ लगाएंगे और तीन साल तक उसकी देखभाल करेंगे। 'वृक्ष भंडारण' यानि वृक्ष दान में करीब 700 लोगों का पंजीयन हो गया है।

एयर प्यूरी फायर नहीं, ये पौधे लगाइए... घर की हवा शुद्ध रहेगी



मुख्यमंत्री कृषक वृक्षधन योजना भी होगी कारगर

मुख्यमंत्री कृषक वृक्षधन योजना भी कारगर की जाएगी। इसके तहत किसानों के खेतों और मेड़ पर वृक्षारोपण किया जाएगा। बीडीओ को लक्ष्य दे दिया गया है। डीएफओ ने आगे बताया, ''कन्नौज में 14 ग्राम गंगानदी किनारे के घोषित कर दिए गए हैं। तटीय क्षेत्रों में एक किमी चैड़ाई में सघन वृक्ष लगाए जाएंगे।

डीएम ने बांटा लक्ष्य, भेजा पत्र

डीएम रवीन्द्र कुमार ने वर्ष 2018-19 के लिए वृक्षारोपण कराने के लिए विभागवार लक्ष्य भी आवंटित कर दिया है। पत्र में उन्होंने ग्राम विकास विभाग को 3.50 लाख पौधे, उद्यान विभाग को 15,750, नगर निकायों को 13,000, कृषि विभाग/भूमि संरक्षण को 12,000, माध्यमिक शिक्षा विभाग को 9,390, बेसिक षिक्षा विभाग को 30,000, लोक निर्माण विभा गो 14,000 और सिंचाई विभाग को 20,000 पौधे लगाने का लक्ष्य दिया है।

यहां के किसान कागज से उगा रहे पौधे


Share it
Top