ललितपुर: फर्जी पत्रकार अब नहीं बना सकेंगे व्हाट्सऐप ग्रुप

पिछले कुछ दिनों से यह बात तेजी से चल रही है कि ललितपुर जिला प्रशासन ने पत्रकारों को बिना पंजीकरण के मीडिया व्हाट्सएप ग्रुप के संचालन पर रोक लगा दी है।

ललितपुर: फर्जी पत्रकार अब नहीं बना सकेंगे व्हाट्सऐप ग्रुप

ललितपुर जिला प्रशासन ने सोशल मीडिया पर लगाम लगाने के लिए कड़ा कदम उठाया है। अब व्हाट्सएप ग्रुप बनाने वाले फर्जी पत्रकार कानून के शिकजें से बच नहीं पाएंगे। जिला प्रशासन ने आदेश जारी कर कहा है कि किसी पत्रकार को मीडिया व्हाट्सएप ग्रुप बनाने से पहले सूचना विभाग में रजिस्ट्रेशन करवाना होगा, अन्यथा कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

इस फरमान को जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह और पुलिस कप्तान डॉ ओपी सिंह ने लिखित में जारी किया है। इसमें कहा गया है कि जिले का कोई भी पत्रकार बिना सूचना विभाग में पंजीकरण करवाए मीडिया व्हाट्सएप ग्रुप का संचालन नहीं कर सकता।

ये भी पढ़ें- आपकी जान जोखिम में डाल सकता है 'मोमो चैलेन्ज'

लिखित आदेश के मुताबिक, "ग्रुप एडमिन को ग्रुप में जुड़े सभी सदस्यों की जानकारी देनी होगी। साथ ही ग्रुप एडमिन को आधार कार्ड की कॉपी, फोटो और अन्य जानकारियां उपलब्ध करानी होंगी। यह आदेश सभी मीडिया से जुड़े वेबसाइटों पर भी लागू होती है।"

इसकी पुष्टि के लिए गाँव कनेक्शन ने ललितपुर के जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह से बात की तो उन्होंने बताया, "हमने यह नियम सभी पत्रकारों के लिए लागू नहीं किया है। कुछ पत्रकार ऐसे भी हैं जो किसी भी न्यूज़ पोर्टल या अखबार से जुड़े नहीं होते वो भी ग्रुप बनाकर लोगों को जोड़ते रहते हैं। उन पत्रकारों के लिए यह नियम बनाया गया है। पंजीकृत पत्रकारों के लिए ऐसा कोई भी नियम नहीं बनाया गया है।"

यूपी पुलिस ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ मुहिम छेड़ रखी है। यूपी पुलिस अपने ट्विटर हैंडल से लगातार लोगों को अफवाहों से सतर्क रहने की सलाह दे रही है। इस कदम से जिले के फर्जी पत्रकारों पर नकेल भी कसी जाएगी।

ये भी पढ़ें- सावधान: इस पुरानी तस्वीर की तरह कुछ भी पुराना वायरल हो सकता है

Share it
Top