Read latest updates about "वाराणसी" - Page 1

  • परम धर्म संसद: पढ़िए राम मंदिर, गंगा और केंद्र सरकार पर क्या बोले साधु-संत

    वाराणसी (उत्तर प्रदेश)। भारत के दो सबसे बड़े धार्मिक केंद्रों पर मंदिर पर मंथन हो रहा है। अयोध्या में राम मंदिर को लेकर विश्व हिंदू परिषद की धर्म सभा हो रही है तो वहां से 200 किलोमीटर दूर बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी में परम धर्म संसद 1008 हो रही है। खास ये भी है कि अयोध्या में जहां मंदिर निर्माण को...

  • देसी गाय से कैसे मुनाफा कमा सकते हैं इस गोशाला से सीखिए

    वाराणसी। जहां एक ओर पशुपालक देसी गाय पालन को घाटे को सौदा मानते हैं, वहीं बनारस स्थित रामेश्वर गोशाला एवं पशुशाला देसी गायों को पालकर सलाना लाखों की कमाई कर रही है, साथ गंगातीरी नस्ल की गायों का संरक्षण और संर्वधन भी किया जा रहा है। यह गोशाला बनारस जिले के हरूंआ ब्लॉक के रामेश्वर गाँव में है।...

  • इस सर्दी आजमाइए आंवला, हल्दी और अदरक का अचार

    अक्टूबर की गुलाबी ठंड ख़ूब ख़ुशनुमा मौसम लेकर आती है। त्यौहार भी इसी मौसम में शुरू हो जाते हैं और हम सर्दियों का इंतज़ार करने लगते हैं। ख़ूब अच्छा अच्छा खाना, अदरक वाली चाय और रज़ाई में घुसकर बैठना याद आने लगता है और कभी कभी तो ज़ुकाम हो जाता है। सर्दी ज़ुकाम तो जैसे बदलते मौसम की सौग़ात बनकर बिन...

  • अहंकार से भरी भाजपा को जनता सिखाए सबक : नीतीश

    वाराणसी (भाषा)। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी का बिगुल फूंकते हुए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर प्रहार किया। उन्होंने सूबे की जनता का आह्वान किया कि वह अहंकार से भर चुकी भाजपा को आगामी चुनाव में बिहार की ही तरह सबक सिखाए।नीतीश ने मछलीशहर...

  • प्रधानमंत्री मोदी ने वाराणसी में गोद लिया एक और गाँव

    वाराणसी। सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी का एक और गाँव गोद ले लिया है। इस गाँव का नाम नागेपुर है। नागेपुर गाँव वाराणसी के रोहनिया ब्लॉक के अंतर्गत आता है। प्रधानमंत्री द्वारा गाँव गोद लेने के बाद नागेपुर के विकास का खाका तैयार किया जा रहा है।...

  • आयुर्वेद से होगा कैंसर का इलाज

    वाराणसी। प्राचीन दवा पद्धति आयुर्वेद का इस्तेमाल अब कैंसर के इलाज के लिए किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की योजना के मुताबिक़ अमेरिकी मेडिकल एक्सपर्ट्स की टीम वाराणसी के काशी हिंदू विश्वविद्यालय पहुंच चुकी है।अमेरिका से आई शोधकर्ताओं की टीम आयुर्वेद पद्धति को...

  • बनारस के कैथी गाँव में पूर्वांचल का पहला फिल्म महोत्सव

    वाराणसी। पूर्वांचल के किसी ग्रामीण क्षेत्र में पहली बार फिल्म महोत्सव होने जा रहा है। तीन दिवसीय कैथी फिल्म महोत्सव में एक ही मंच पर लोक संगीत, लोक कला, लोक गीत के प्रदर्शन के साथ ही सामाजिक मुद्दों पर आधारित नाटकों के साथ ही सामाजिक संदेश देने वाली फिल्मों का भी प्रदर्शन किया जाएगा।वाराणसी के...

  • बनारस के लोग खरीद रहे ऑनलाइन सब्ज़ियां

    वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में इन दिनों व्यापार का चलन भी बदल रहा है। बनारस के इस बदलते व्यावसायिक ट्रेंड में प्रधानमंत्री के स्टार्ट अप इंडिया और मेक इन इंडिया दोनों देखने को मिल रहा है। जहां एक ओर ऑनलाइन मार्केटिंग से बड़ी-बड़ी कंपनियां सामान बेच रहीं हैं, वहीं...

  • जल्द मिलेगा काशी में हैंडीक्राफ्ट को बाज़ार

    वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्राथमिकता वाले ट्रेड फेसिलिटेशन सेंटर से अब हैंडीक्राफ्ट और बुनकरी से जुड़े लोगों की उम्मीद फिर जगने लगी है। इसका कारण यह है कि इसके लिए नई कार्यदायी एजेंसी को काम सौंप दिया है। लालपुर में बनने वाले सेंटर का निर्माण कार्य अब नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन...

  • यूपी के 20 ज़िलों में खोले जायेंगे सामुदायिक कृषि यंत्र केन्द्र

    वाराणसी।  उत्तर प्रदेश में खेती की तरक्की के लिए जरूरी कृषि यंत्रो के प्रयोग को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश सरकार ने बीस ज़िलों में 'सामुदायिक कृषि यंत्र केंद्र' खोलने की योजना बनाई है।वाराणसी ज़िले में बुधवार 16 दिसम्बर को राज्य परती भूमि विकास विभाग द्वारा आयोजित समेंकित जलसंचय प्रबन्धन कार्यक्रम के...

  • जापानी पीएम आबे ने मोदी के साथ वाराणसी में की गंगा आरती

    वाराणसी। ‘हर-हर महादेव’ की तेज़ गूँज पर जब दोनों प्रधानमंत्रियों ने एक लय में हवा में हाथ उठाया तो वैश्विक पारिद्रिश्य पर भारत और जापान की विकास में साझेदारी की तस्वीर साफ़ हो गयी।जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार की शाम बनारस पहुंचे, जहाँ वे एक घंटे तक चली गंगा आरती...

  • मंदिरों में भी लागू हुआ ड्रेस कोड

    वाराणसी। यूनिफॉर्म या ड्रेसकोड जैसे नियम अभी तक स्कूल-कॉलेज परिसर में ही लागू हुआ करते थें। लेकिन अब ये नियम स्कूल-कॉलेजों से निकलकर मंदिर परिसर में आ पहुंची है। बनारस में स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर जहां पर आने वाले विदेशी सैलानियों के बेढंग और आधे तन के कपड़ों के मद्देनजर मंदिर और स्थानीय प्रशासन...

Share it
Top